तिरुमला (आंध्र प्रदेश) : श्री भगवान बालाजी मंदिर में 12 साल में एक बार आयोजित होने वाले महासंप्रोक्षण कार्यक्रम की सभी तैयारियां पूरी हो गई है। आगामी 11 अगस्त को शाम को भगवान बालाजी का अंकुरार्पण किया जाएगा। इसके बाद आगामी 16 अगस्त तक महासंप्रोक्षण जारी रहेगा।

इस अवसर पर भगवान बालाजी की सुभ्रात सेवा से लेकर एकांत सेवा तक अनेक भक्ति कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। अंकुरार्पण के अंतर्गत शनिवार को कल्याणोत्सव मंडप में 28 कुंडलियों को स्थापित किया जाएगा। इसके बाद अनेक भक्ति कार्यक्रम किये जाएंगे।

संबंधित खबरें :

बड़ा सवाल : तिरुमाला में महासंप्रोक्षणम् या महानिर्बंधनम्

नौ दिनों तक नहीं मिलेंगे भक्तों को बालाजी के दर्शन, यह है कारण

दूसरी ओर महासंप्रोक्षण कार्यक्रम के मद्देनजर विशेष टोकन को गुरुवार रात से बंद कर दिये गये हैं। साथ ही भक्तों की रद्दी को कम करने के लिए टीटीडी ने अनेक कदम भी उठाये हैं। पैदल रास्ते आने वाले भक्तों के लिए दिव्य दर्शन टोकन बंद कर दिये गये हैं।

साथ टाइम स्लाट टिकट जारी करने वाले केंद्रों को भी बंद किया गया है। इतना ही नहीं, लगभग सभी प्रकार के दर्शन सेवा को रोक दी गई है। केवल अंकुरार्पण के दिन यानी शनिवार को 9 घंटे तक 50 हजार भक्तों को दर्शन करने की मौका दिया गया है। साथ ही रविवार से हर दिन 18 से 30 भक्तों को मात्र दर्शन करने का मौका दिया जाएगा।

इसी क्रम में मंदिर के ईओ अनिल कुमार सिंघाल ने बताया कि महासंप्रोक्षण के इन पांच दिनों में 1,94,000 भक्तों को श्री भगवान बालाजी के दर्शन करने का अवसर दिया जाएगा।