डॉर्मिटरी में लगा सीसी कैमरा बना विवाद मुद्दा, पढ़ें खबर

डार्मिटरी में कैमरा - Sakshi Samachar

विजयवाड़ा : स्थानीय कनक दुर्गा मांता मंदिर के डार्मिटरी में सीसी कैमरा स्थापित किया जाना विवाद का विषय बन गया है। तीन माह से जारी यह प्रक्रिया सोमवार को प्रकाश में आई है। डार्मिटरी में स्थापित सीसी कैमरा में महिलाओं के कपड़े बदले जाने के दृश्य कैद हुए है। इसके चलते भक्तों में रोष व्याप्त है।

भक्तों ने कहा कि महिलाओं के कपड़े उतारे जाने के दृश्य को सीसी कैमरा में रिकॉर्ड करना अनुचित है। भक्तों ने इस घटना के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की सरकार से मांग की है।

आपको बता दें कि श्री दुर्गा मल्लेश्वरस्वामी देवस्थानम की ओर से पाडी विधि में सीवी रेड्डी चैरिटीस के नाम पर एक कॉटेज का संचालन किया जाता है। इस कॉटेज के मेन हॉल में ‘लक्ष्मी’ नाम से महिलाओं के लिए एक एसी डार्मिटरी को स्थापित किया गया। इस टार्मिटरी में 8 पलंग है। यहां पर कुछ खाली जगह भी है। विवाह के दौरान एसी डार्मिटरी को किराये पर दिया जाता है। यहां पर स्नान करने के बाद कपड़े बदलने की भी सुविधा है।

इसी क्रम में तीन महीने पहले डार्मिटरी के दृश्यों को देखने के लिए सीसी कैमरा को स्थापित किया गया। मगर रविवार को एक शादी हुई। इस दौरान दुल्हन के अलावा कुछ महिलाओं ने कपड़े बदले। ये दृश्य सीसी कैमरा में रिकॉर्ड हुए। शादी होने के बाद अपना सामान लेकर जाते समय उनकी नजर दीवार पर लगे सीसी कैमरा पर पड़ी।

ऐसे हुआ खुलासा

उन्होंने अधिकारियों से पूछा तो पता चला है सीसी कैमरा काम कर रहा है। उन्होंने देखा तो महिलाओं के कपड़े बदले जाने के सीसी कैमरा में दृश्य दर्ज थे। इसके बाद उन्होंने अधिकारी और सुरक्षाकर्मी के साथ रिकॉर्ड किये जाने पर खिंचाई की। मगर अधिकारियों की ओर से संतोषजनक जवाब नहीं मिला है।

महिलाओं की सुरक्षा के लिए

दूसरी ओर मंदिर के ईओ एम पद्मा ने इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भक्तों की सुविधा के लिए डार्मिटरी को स्थापित किया गया है। इस डार्मिटरी को किराये पर दिया जाता है। यह केवल आराम करने की जगह है। यहां पर कपड़े बदलने की जगह नहीं है। महिलाओं की सुराक्षा के लिए ही डार्मिटरी में सीसी कैमरा लगवाया गया है।

Advertisement
Back to Top