CM जगन के दौरे का शेड्यूल तय, भाग लेंगे इन कार्यक्रमों में  

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

विजयनगरम : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के दौरे का शेड्यूल तय हुआ है। जिले में इस महीने की 24 तारीख को मुख्यमंत्री दौरा करेंगे। लगभग दो घंटे तक कार्यक्रमों में भाग लेंगे। यहां पर ‘जगनन्ना वसति दीवेना’ योजना का शुभारंभ करेंगे। साथ ही दीशा पुलिस थाने का भी शुभारंभ करेंगे।

आंध्र प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री जगन के दौरे का शेड्यूल जारी किया है। सीएम जगन के दौरे की समयसारणी इस प्रकार होगी। सुबह 11 बजे विजयनगरम पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज के मैदान पर पहुंचेगे। 11 बजकर 2 मिनट पर लोग, जनप्रतिनिधी और जिलाधीश स्वागत करेंगे। 11:03 बजे पर पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज के मैदान में हेलिपैड से रवाना होंगे। 11 बजकर 15 मिनट पर अयोध्या मैदान पर आम सभा स्थल पहुंचेंगे। सुबह 11:15 से 11:25 बजे तक अयोध्या मैदान पर प्रदर्शनी में स्टालों का निरीक्षण करेंगे। सुबह 11:25 से दोपहर 12:25 बजे तक वाईएसआर ‘जगनन्ना वसति दीवेना’ योजना का शुभारंभ करेंगे।

सुबह 12:25 बजे सभा स्थल से ‘दिशा’ पुलिस थाने के लिए रवाना होंगे। दोपहर 12:35 से 2:45 बजे तक पुलिस बैरक ग्राउंड पर ‘दिशा’ पुलिस थाने का शुभारंभ करेंगे। दोपहर 12 बजकर 45 मिनट पर ‘दिशा’ पुलिस थाने से रवाना होकर पुलिस प्रशिक्षण केंद्र में हेलिपैड पहुंचेंगे।

जानिए क्या है ‘जगनन्ना वसति दीवेन’

‘जगनन्ना वसति दीवेन’ योजना के अंतर्गत आर्थिक पिछड़े वर्ग के छात्रों को शैक्षणिक वर्ष में दो बार आर्थिक सहायता उपलब्ध की जाती है। उच्च शिक्षा के दौरान रहने और खाने की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 20,000 रुपये की सहायता राशि उपलब्ध कराई जाती है। राज्य के कुल 11,87,904 छात्रों को योजना का लाभ पहुंचाया जाएगा। इनमें से 53,720 छात्र आईटीआई से होंगे। इन छात्रों को साल में दो बार 5-5 हजार रुपये दिये जाएंगे। डिग्री और अन्य उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्रों को साल में दो बार 10-10 हजार रुपये उपलब्ध होंगे।

जानिए क्या है दिशा पुलिस स्टेशन

दिशा पुलिस स्टेशन 24 घंटे कार्य करेंगे। प्रदेश भर में 18 दिशा पुलिस स्टेशन स्थापित किये जाएंगे। इसके अलावा दिशा कंट्रोल रूम 24 घंटे काम करेंगे। देश का यह पहला पुलिस स्टेशन है। इसके लिए 52 कर्मचारियों को तैनात किया गया है। हर थाने को विशाखा स्थित कंट्रोल रूम को जोड़ा जाएगा।दिशा थाने में मामले की जांच के अलावा फोरेंसिक लैब और विशेष अदालत होगी। अदालत में 21 दिन में मामले की सुनवाई पूरी की जाएगी। आरोपियों के खिलाफ दिशा कानून के अनुसार कार्रवाई करके कड़ी सजा दी जाएगी।

Advertisement
Back to Top