विशाखापटनम : YSRCP के नेता दाडी वीरभद्र राव ने कहा कि विधान परिषद रद्द करने का अधिकार संविधान में है। विधान परिषद में टीडीपी के नेता बिना वजह हंगामा खडा कर रहे हैं। टीडीपी के मुखिया चंद्रबाबू नायडू लोकतंत्र की छवि धूमिल कर रहे हैं।

वीरभद्र राव ने आंध्र प्रदेश विधानसभा में मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने महत्वपूर्ण जानकारी दी। सीएम जगन ने राज्य के सभी क्षेत्र का विकास करने के उद्देश्य से तीन राजधानियों का निर्णय लिया। यह निर्णय ऐतिहासिक है। वीरभद्र राव ने कहा कि विधानसभा में पारित किया गया बिल विधान परिषद में पेश करने पर कार्यवाही के दौरान अडचनें पैदा करना लोकतंत्र नहीं है।

इसे भी पढ़ें :

1 जून से 36 लाख छात्रों को मिलेगा उपहार, CM जगन ने की घोषणा

तीन राजधानी बनाने का विधेयक आंध्र प्रदेश विधान परिषद में पेश

दाडी वीरभद्र ने कहा कि विधान परिषद में किसी बिल को पेश करना या नहीं करना, इसका चेयरमैन को अधिकार नहीं। कोई भी बिल हमेशा की तरह पेश किया जाता है। विधान परिषद में चर्चा होने के बाद उस बिल का समर्थन करना या नहीं करना, यह सदस्यों का निर्णय होता है। परिषद में चंद्रबाबू का रवैया लोकतंत्र प्रणाली के अनुसार नहीं है।