विजयवाड़ा: मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान स्पष्ट कर दिया है कि उनकी सरकार महिलाओं की सुरक्षा को हल्के में नहीं लेगी बल्कि इसके लिए ठोस कदम उठाएगी।

इसी सिलसिले में राज्य सरकार एक नया कानून लाने के लिए तैयारी कर रही है जो राज्य में महिलाओं के साथ बलात्कार के लिए मृत्युदंड का प्रावधान तय करता है।इसके अंतर्गत भारतीय दंड संहिता (IPC - भारतीय दंड संहिता) की धारा 354 में संशोधन करके नया 354-ई बनाएगी।

महिलाओं और बच्चों पर बलात्कार और हमला करने वालों को जल्द से जल्द सजा दिलवाई जाएगी। इस कानून का उद्देश्य कुछ हफ्तों के भीतर ऐसे मामलों पर मुकदमा चलाना, फास्टट्रैक कोर्ट स्थापित करना और दो सप्ताह के भीतर मुकदमे को पूरा करना है।

इस तरह के मामलों में दोषी पाए जाने पर कानून तीन सप्ताह के भीतर दोषियों की सजा का प्रावधान तय करता है।

सीएम वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने इस कानून को लागू करने की ठान ली है क्योंकि वे राज्य में महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करना चाहते हैं।

इसे भी पढ़ें :

जगन बोले : किसानों के कल्याण के लिए चार कदम आगे है एपी सरकार

दिल का दौरा पड़ने से हुई मौत पर भी राजनीति करते रहे चंद्रबाबू : YS जगन

सीएम वाईएस जगन की कैबिनेट बुधवार को इस पर चर्चा करेगी और विधेयक को मंजूरी देगी। विधानसभा में महिला सुरक्षा विधेयक पास होने के बाद यह कानून लागू कर दिया जाएगा।