हैदराबाद : तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष नारा चंद्रबाबू नायडू का अमरावती दौरे के दौरान तनाव की स्थिति उत्पन्न हुई। इस दौरान किसानों ने चंद्रबाबू गो बैक के नारे लगाये। किसानों ने आरोप लगाया है कि चंद्रबाबू ने राजधानी के नाम पर किसानों की भूमि को लूटकर ले गये हैं। भूमि को लूट ले गये चंद्रबाबू नायडू को अमरावती में दौरा करने का कोई अधिकार नहीं है।

आपको बता दें कि राजधानी के नाम पर लैंड पूलिंग के नाम पर चंद्रबाबू ने बड़े पैमाने पर किसानों की भूमि को अधिग्रहण किया है। मगर आज इस भूमि का अता पता नहीं है।

चंद्रबाबू नायडू के अमरावती दौरे विरोध प्रदर्शन करते हुए किसान। बंदोबस्त में जुटी पुलिस
चंद्रबाबू नायडू के अमरावती दौरे विरोध प्रदर्शन करते हुए किसान। बंदोबस्त में जुटी पुलिस

इस अवसर पर किसानों ने कहा कि हमारी भूमि के बदले कम से कम चंद्रबाबू ने प्लाट भी नहीं दिया है। इसके कारण जीवन जीना दुर्भर हो गया। किसानों ने चंद्रबाबू के खिलाफ गो बैक के नारे भी लगाये। साथ ही कहा कि चंद्रबाबू के कारण ही हमारी जिंदगी बर्बाद हो गई है। किसानों ने चंद्रबाबू के खिलाफ प्लकार्ड दिखाते हुए विरोध प्रदर्शन भी किया।

इसे भी पढ़ें :

राजधानी में क्या बचा है जो चंद्रबाबू फिर लूटना चाहते हैं - बोत्सा

पेर्नी नानी का चंद्रबाबू को सवाल, राजधानी क्षेत्र में कितने लोगों को मिले आवासिय प्लाट्स?

पुलिस के साथ बहस करते हुए किसान
पुलिस के साथ बहस करते हुए किसान

इसी दौरान प्लकार्ड के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं किसानों पर तेलुगु देशम पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हमला किया। इसके चलते अमरावती स्थित वेंकटपालेम में तनाव की स्थिति उत्पन्न हुई है। पुलिस ने आंदोलन कर रहे किसानों को तितर बितर किया। इसी दौरान पुलिस और टीडीपी कार्यकर्ताओं के बीच धक्का मुक्की हुई।

प्लकार्ड प्रदर्शित करते हुए किसान
प्लकार्ड प्रदर्शित करते हुए किसान

विधायक आल्ला रामकृष्णा

दूसरी ओर वाईएसआरसीपी की विधायक आल्ला रामकृष्णा ने कहा कि पैकेज के नाम पर किसानों और दलितों के साथ किये गये धोखाधड़ी के लिए माफी मांगे और इसके बाद राजधानी के गांवों का दौरा करें। उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू पर भरोसा करके किसानों द्वारा दी गई जमीन का क्या किया है, इसका खुलासा करें। इसके बाद ही चंद्रबाबू अमरावती का दौरा करें।

मीडिया से रूबरू होते हुए विधायक आल्ला रामकृष्णा
मीडिया से रूबरू होते हुए विधायक आल्ला रामकृष्णा

इसी क्रम में किसानों पर टीडीपी कार्यकर्ताओं द्वारा किये गये हमले के विरोध में चंद्रबाबू नायडू का पुतला जलाया। इस अवसर पर किसानों ने कहा कि चंद्रबाबू ने राजधानी के नाम पर किसानों की हजारों एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया है। इस बारे में सवाल किया गया तो चंद्रबाबू ने किसानों पर गुंडों से हमला करवाया है।

चंद्रबाबू का पुतला जलाते हुए किसान
चंद्रबाबू का पुतला जलाते हुए किसान