पश्चिम गोदावरी: राज्य के वित्त मंत्री बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी का कहना है कि पिछली टीडीपी सरकार के दौरान कॉंट्रैक्ट के काम में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है। उन्होंने गुस्सा व्यक्त करते हुए कहा कि कर्मचारियों को वेतन तक न देकर सारे फंड को सरकार द्वारा लूट लिया गया।

गुरुवार को मंत्री ने नरसापुर मंडल के पीएमलंका गांव का दौरा किया। इसी अवसर पर संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि विपक्ष आरोप लगा रहा है कि हमारी सरकार कल्याणकारी योजनाओं के धन का दुरुपयोग कर रही है जबकि इस बात में किसी तरह की कोई सच्चाई नहीं है।

उन्होंने कहा कि आज की कल्याणकारी योजनाएं ही राज्य के कल के लिए निवेश की तरह है, कोई भी कल्याणकारी योजना व्यर्थ नहीं जाएगी, इसका लाभ होगा, होता रहेगा।

मंत्री ने कहा कि पूर्व सरकार के पेंडिंग बिल ही 60 हजार करोड से ज्यादा है। जबकि अब तक हमने उनमें से 20 हजार करोड का भुगतान किया है।

इसे भी पढ़ें:

चंद्रबाबू नायडू के सामने ही आपस में भिड़े टीडीपी के कार्यकर्ता, बाबू देखते रहे तमाशा

राजधानी में क्या बचा है जो चंद्रबाबू फिर लूटना चाहते हैं - बोत्सा

मंत्री ने कहा कि शाखाओं और जिलों का पूरा विवरण एकत्र करने के लिए निगम का गठन किया जाएगा। रेत के कारण एक हजार करोड़ रुपये और शराब की वजह से 17,500 करोड़ रुपये के राजस्व की उम्मीद की जा रही है। कल्याणकारी योजनाएं वृद्धावस्था पेंशन, अम्मा ओडी और रैतु भरोसा योजनाओं को हमारी सरकार प्रमुखता दे रही है।

मंत्री ने यह स्पष्ट किया है कि सरकार का रेत के रैम्प के लिए नीलामी आयोजित करने का कोई इरादा नहीं है। वहीं अब रेत की बिक्री एपीएमडीसी द्वारा ही की जाएगी