कड़पा: तेदेपा की सभा में कुछ कार्यकर्ताओं ने नेता चंद्रबाबू नायडू को ही जिले में पार्टी के डूबने का कारण बताया। इस सभा में तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू के सामने कई नेता और कार्यकर्ता खड़े हो गए, जिन्होंने बाकी नेताओं और कार्यकर्ताओं की कोई परवाह नहीं की, और कहने लगे कि आपने समय रहते हमारी बात नहीं सुनी, कुछ लोगों को अपने सिर पर चढ़ा लिया जिसका खामियाजा पार्टी को भुगतना पड़ा।

कड़पा दौरे के दूसरे दिन का कार्यक्रम मंगलवार को स्थानीय श्रीनिवास कल्याण मंडपम में रखा गया। यहां मैदुकुरु निर्वाचन क्षेत्र की बैठक में चंद्रबाबू ने भाग लिया। कमलापुरम, जम्मुलमडगु के स्थानीय पार्टी कार्यकर्ताओं ने अपने ही नेता चंद्रबाबू को आड़े हाथों लिया और उन्हें पार्टी के डूबने का कारण बताया।

पता चला है कि इस सभा में कमलापुरम के पूर्व सिंगल विंडो अध्यक्ष साईनाथशर्मा ने चंद्रबाबू की मंच पर सबके सामने आलोचना की। साईनाथ ने कहा कि, आपने तब तो हमारी एक नहीं सुनी पर कृपा करके अब तो सुनिये सर वरना पार्टी कहीं की नहीं रहेगी।

साईनाथ ने चंद्रबाबू से कहा कि ब्राह्मणों की तरफ से एक विधायक था और आपने उसे कभी प्राधान्यता नहीं दी। पूरे राज्य में जब मैंने ब्राह्मणों को एक करने का काम किया तब भी कोई पहचान नहीं मिली।

इसके बाद जम्मुलमडुगु की बैठक में भी कार्यकर्ताओं ने चंद्रबाबू के प्रति गुस्सा व्यक्त किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि पार्टी ने कभी कार्यकर्ताओं की कोई फिक्र नहीं की तभी आज पार्टी की ये हालत हुई है।

वहीं देखा जा रहा है कि तेदेपा अपनी हार से अब भी उबरी नहीं है। चुनाव के बाद भी आपसी मतभेद व अंतर्कलह ने पार्टी को पूरी तरह से डुबाने का काम ही किया है। कार्यकर्ता इस कदर निराश व हताश हो गए हैं कि अब तो उन्हें कुछ भी कहते या करते समय यह भी होश या डर नहीं रहता कि उनके नेता देख रहे हैं।

मंच पर नेता चंद्रबाबू की आलोचना करते कार्यकर्ता साईनाथ 
मंच पर नेता चंद्रबाबू की आलोचना करते कार्यकर्ता साईनाथ 

इसीका सबूत देखने को मिला कड़पा जिले की सभा में जहां कार्यकर्ता चंद्रबाबू के सामने ही आपस में भिड़ गए। यह सारा तमाशा चंद्रबाबू देखने के अलावा कुछ भी नहीं कर पाए।

यह सब तब शुरू हुआ जब समीक्षा बैठक में 15व डिविजन के इंचार्ज दलित कार्यकर्ता कोंडा सुब्बय्या ने सभा को संबोधित करते हुए सबसे सामने पार्टी के जिला अध्यक्ष श्रीनिवास रेड्डी पर गंभीर आरोप लगाने लगे।

इसे भी पढ़ें :

राज्य मंत्रिमंडल की बैठक आज, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

इंग्लिश मीडियम को लेकर पवन कल्याण का यू टर्न

तभी श्रीनिवास रेड्डी ने उठकर सुब्बय्या के हाथ से माइक छीन लिया और उनके साथी हाथापाई पर आमादा हो गए। यह सब होते हुए मंचासीन चंद्रबाबू देख रहे थे पर उन्होंने किसी तरह का कोई बीच-बचाव नहीं किया और मामला बढ़ गया।

इसी मामले की शिकायत सुब्बय्या ने रिम्स पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई है। पुलिस जिला अध्यक्ष, श्रीनिवासुल रेड्डी व उनके आठ अनुयायियों पर एससी और एसटी का मामला दर्ज करके जांच में जुट गई है।