काकीनाड़ा : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये हैं। इनमें सराकारी पाठशालाओं में अंग्रेजी माध्यम को अमल में लाना एक निर्णय है। इस निर्णय का विपक्ष ने पहले विरोध किया, लेकिन सरकार की मंशा को भांपते हुये अपने बयान से यू टर्न लिया।

कई लोगों ने उनके इस कदम की प्रशंसा की। इस क्रम में प्रमुख फिल्म कलाकार आर नारायण मूर्ति ने भी योजना को लेकर तारीफ के पूल बांधे। उन्होंने सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी के इस निर्णय का स्वागत किया। नारायण मूर्ति ने कहा कि जिन लोगों की ने तेलुगु की गरिमा बनाये रखने की बात कही, उनके घरों में अंग्रेजी बोली जाती है।

इसे भी पढ़ें :

इंग्लिश मीडियम को लेकर पवन कल्याण का यू टर्न

चंद्रबाबू ने सरकारी अंग्रेजी माध्यम को लेकर लिया यू टर्न, नेताओं को दिये ये निर्देश

नारायण मूर्ति ने कहा कि मातृभाषा में शिक्षा की बात तो करते हैं लेकिन अपने बच्चों को अंग्रेजी माध्यम की पाठशाला में अध्ययन के लिए भेजते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे पढ़ाई के दौरान अंग्रेजी पढनेवाले अब आईएएस अधिकारी बन गये हैं। तेलुगु माध्यम में आर्थिक पिछड़े वर्ग के छात्र ही पढ़ते हैं और थर्ड या फोर्थ क्लास की नौकरी करते हैं।