ताडेपल्ली : तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के मुखिया चंद्रबाबू नायडू ने यू टर्न लिया है। आंध्र प्रदेश की सरकारी पाठशालाओं में अंग्रेजी माध्यम के अमल में लाने के के सरकार के निर्णय का पहले उन्होंने विरोध किया था, अब यू टर्न लेते हुये उन्होंने अंग्रेजी माध्यम अमल में लाने के निर्णय को सही बताया है। अंग्रेजी माध्यम को लेकर चंद्रबाबू नायडू के बयान का कई लोगों ने विरोध किया। उनके पार्टी नेताओं ने भी उनके बयान का विरोध किया।

चंद्रबाबू नायडू ने उंडावल्ली में पार्टी नेताओं की बैठक आयोजित की। उन्होंने पार्टी का बड़ा नुकसान होने से बचाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के खिलाफ बेतुका बयान दिया। उस बयान का विरोध किया गया।

इसे भी पढ़ें :

नेता प्रतिपक्ष बनते ही चंद्रबाबू नायडू भूल गए सदन की मर्यादा

हार के बाद दूध के धुले बन रहे हैं चंद्रबाबू नायडू : विजयसाई रेड्डी

टीडीपी पार्टी मुखिया ने बैठक में नेताओं को निर्देश दिया है कि वे सरकारी पाठशालाओं में अंग्रेजी माध्यम के अमल में लाने के मुद्दे पर कोई गलत बयान न दें। साथ ही उन्होंने नेताओं के साथ पार्टी विकास को लेकर भी चर्चा की।