CM YS जगन ने की एग्री मिशन और मार्केट इंटेलिजेंस समीक्षा बैठक, दिये ये आदेश

एग्रीमिशन और मार्केट इंटेलिजेंस पर समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री वाईएस जगन और अन्य - Sakshi Samachar

विजयवाड़ा : मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने एग्री मिशन और मार्केट इंटेलिजेंस पर समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री सोमवार को अधिकारियों के साथ समीक्षा की। इससे पहले मुख्यमंत्री ने एग्रीकल्चर मिशन वेबसाइट का शुभारंभ किया।

सीएम ने कहा कि रैतु भरोसा के जरिए आगामी मई महीने तक कुछ और किसानों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि अब तक 45,20, 616 परिवारों को रैतु भरोसा के तहत लाभ मिला है। लगभग 5,185.35 करोड़ रुपये का वितरण किया गया है। 15 दिसंबर तक ठेका किसानों को भी रैतु भरोसा की राशि दी जाएगी। इस असवर पर मुख्यमंत्री ने धर्मस्व विभाग की भूमि और सोसाइटी की भूमि में खेतीबाड़ी करने वाले के किसानों को भी रैतु भरोसा में शामिल किये जाने का भी फैसला लिया।

इसी क्रम में वाईएस जगन ने ग्राम सचिवालय के पास में दुकानों और वर्कशॉपों को स्थापित किये जाने की समीक्षा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने कहा कि आगामी 1 जनवरी से इसे लागू किया जाएगा। इस संबंध में अधिकारी कार्यप्रणाली तैयार किया जाये। किसानों के लिए स्थापित दुकानों मिलने वाले हर चीज की सरकार गैरंटी देती है।

यह भी पढ़ें:

CM YS जगन ने दी वाल्मीकि जयंती की बधाई, बोले- मानवीय मूल्यों पर चलने की सीख देती हैं रामायण

CM YS जगन ने की राज्यपाल विश्वभूषण से भेंट, इन मुद्दों पर की चर्चा

उन्होंने वर्कशॉपों में किसानों को किन किन विषय प्रशिक्षण दिया जा सकता है इस पर भी आवश्यक कार्यप्रणाली तैयारी करने के आदेश दिया है। भूसार परीक्षाएं वर्कशॉपों में शामिल किया जायेगा। ऑर्गनिक खेती के बारे में किसानों में जागरुक कार्यक्रम चलाये जाएंगे। इसके लिए ग्राम सचिवालयों में नियुक्त एग्रीकल्चर सहायकों की सेवाओं को उपयोग में लिया जाएगा।

बॉयो फेस्टिसाइड्स और बॉयो फेर्टलाइजर्स के नाम पर हो रही धोखे रे रोकने के लिए एपी बॉयो प्रोड्यूक्ट्रस रेग्युलेटरी एक्ट को ले आने का भी फैसला लिया गया। इसके लिए भी अधिकारी आवश्यक कदम उठाये।

यह भी पढ़ें:

आंध्र प्रदेश में भक्त कनकदास जयंती उत्सव आधिकारिक रूप से मनाई जाएगी, आदेश जारी

Organic Farming करने वाले किसानों से रू-ब-रू हुए राज्यपाल, कही यह बात

दूसरी ओर मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने मार्केट इंटेलिजेंस पर भी समीक्षा की। इस दौरान अनेक फैसले लिये। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिया कि गोदामों के निर्माण को लेकर मंडल और निर्वाचन क्षेत्र के अनुसार मैपिंग किया जाये।

किसानों को नुकसान न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाये। साथ ही मूंगफली और मका खरीदी केंद्रों को स्थापित किये जाने के आदेश दिया। सीएम ने स्पष्ट किया कि न्यूनतम दाम नहीं मिलने वाले फसलों के किसानों को मदद करने के लिए उनके फसल के लिए हो रहे खर्च को ध्यान में रखते हुए सरकार ही दामों को घोषित करेगी। इसका अध्ययन करके कार्यप्रणाली तैयार करने का भी मुख्यमंत्री ने आदेश दिया है। इन किसानों की फसलों की दामों की घोषणा शीघ्र ही की जाएगी।

समीक्षा बैठक में उपमुख्यमंत्री पुल्ली सुभाष चंद्रबोस, मंत्री कन्नबाबू, मोपीदेवी, बालिनेनी और अन्य उपस्थित थे।

Advertisement
Back to Top