आंध्र प्रदेश में भक्त कनकदास जयंती उत्सव आधिकारिक रूप से मनाई जाएगी, आदेश जारी

भक्त कनकदास प्रतिमा पर फूलमालाएं अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए मंत्री शंकर नारायण, हिंदुपुरम सांसद गोरंट्ला माधव, गरड़िया समूदाय के लोग और अन्य - Sakshi Samachar

अनंतपुर : आंध्र प्रदेश में गरड़िया समूदाय के आराध्य दैव भक्त कनकदास जयंती उत्सव को आधिकारिक रूप से मनाई जाएगी। मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने शनिवार को उक्ताशय के आदेश जारी किये हैं। मुख्यमंत्री के फैसले का अनंतपुर जिले के लोग मुख्य रूप से गरड़िया समूदाय ने संतोष व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के आदेश के चलते भक्त कनकदास जयंती उत्सव को साल भर भव्य रूप से मनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री कार्यालय से भक्त कनकदास जयंती उत्सव आधिकारिक रूप से मनाये जाने की घोषणा होते ही मंत्री शंकर नारायण, हिंदुपुरम सांसद गोरंट्ला माधव, गरड़िया समूदाय और स्थानीय नेताओं ने भक्त कनकदास की प्रतिमा पर फूल मालाएं अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

मंत्री शंकर नारायण

इस अवसर पर मंत्री शंकर नारायण ने कहा, "गरड़िया समूदाय की भावनाओं को देखते हुए भक्त कनकदास जयंती उत्सव को आधिकारिक रूप से मनाये जाने के आदेश जारी दिये जाने पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन के प्रति आभार। चंद्रबाबू नायडू ने तो गरड़िया समूदाय को दिये गये आश्वासन को भूल गये हैं। चंद्रबाबू बीसी द्रोही है। केवल वोट बैंक के लिए बीसी समूदाय का इस्तेमाल किया है।"

यह भी पढ़ें:

CM YS जगन ने दी वाल्मीकि जयंती की बधाई, बोले- मानवीय मूल्यों पर चलने की सीख देती हैं रामायण

भक्त कनकदास

सांसद गोरंट्ला माधव

सांसद गोरंट्ला माधव ने भी भक्त कनकदास जयंती उत्सव को आधिकारिक रूप से मनाये जाने के आदेश जारी किये जाने पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के प्रति आभार व्यक्ति किया। उन्होंने यह भी कहा कि गरड़िया समूदाय मुख्यमंत्री वाईएस जगन के प्रति जिंदगी भर ऋणि रहेंगे। मुख्यमंत्री का भक्त कनकदास जयंती उत्सव को आधिकारिक रूप से मनाये जाने का फैसला इतिहास के पन्नों पर स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा।

यह भी पढ़ें:

जानिए क्या है ‘वाल्मीकि’ शब्द का अर्थ, साधना से जुड़ा है इसका रहस्य

AP में महर्षि वाल्मीकि जयंती भव्य रूप से संपन्न, नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

सीपीआई जिला सचिव जगदीश

सीपीआई जिला सचिव जगदीश ने भक्त कनकदास जयंती उत्सव को आधिकारिक रूप से मनाये जाने के मुख्यमंत्री वाईएस जगन के आदेश दिये जाने पर आभार व्यक्त किया। सीएम जगन के इस फैसले का हम स्वागत करते हैं। उन्होंने बताया कि भक्त कनकदास जयंती उत्सव को आधिकारिक रूप से मनाये जाने का चंद्रबाबू नायडू से अनेक बार आग्रह किया गया था। मगर चंद्रबाबू ने उसे नजरअंदाज कर दिया।

गरड़िया संघ

गरड़िया संघ के नेता वसिकरी लिगमय्या, रागे परशुराम और अन्य ने भक्त कनकदास जयंती उत्सव को आधिकारिक रूप से मनाये जाने के मुख्यमंत्री वाईएस जगन के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा गरड़िया समूदाय मुख्यमंत्री वाईएस जगन के प्रति आजीवन ऋणी रहेंगे।

Advertisement
Back to Top