मंत्री तानेटी वनिता ने किया ‘YSR किशोरी विकास फेज-3’ का शुभारंभ, कही ये बातें

मंत्री तानेटी वनिता  - Sakshi Samachar

विशाखापट्टणम : आंध्र प्रदेश की महिला और शिशु कल्याण मंत्री तानेटी वनिता ने 'वाईएसआर किशोर विकासम फेज-3' कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मंत्री ने मंगलवार को विशाखा जिले के सिरिपुरम वूड चिल्ड्रेन एरिया में वाईएसआर किशोर विकासम फेज-3 को आरंभ किया।

इस अवसर वनिता ने कहा कि बच्चों के साथ अभिभावक स्नेहपूर्वक रहना चाहिए। बच्चों में बाल अवस्था से लेकर युवा अवस्था में पहुंचने की प्रक्रिया में अनेक परिवर्तन आते हैं। इस अवस्था में लिये गये फैसले ही उनके जीवन को प्रभावित करने वाले होते हैं। समाज में ज्वाइंट फैमिली की परंपरा लुप्त होती जारी रही है। ऐसे समय में अभिभावक बच्चों के प्रति जागरूक रहना चाहिए।

मंत्री वनिता ने सुझाव दिया कि घर आने वाले रिश्तेदार और दोस्तों के परिवर्तन पर बच्चों को कड़ी नजर रखनी चाहिए। यदि कोई गलत बर्ताव करता है तो उसका विरोध करना चाहिए।

यह भी पढ़ें:

CM YS जगन ने बदले जिलों के प्रभारी मंत्री, पढ़ें खबर

CM YS जगन ने की गृहमंत्री अमित शाह से भेंट, रिवर्स टेंडरिंग में करोड़ों की बचत पर दी बधाई

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए साइबर मित्र को शुरू किया है। टिनेज बच्चों को पढ़ाई के साथ साथ व्यक्तिगत स्वच्छता और पौष्टिक आहार की भी आवश्यकता होती है। ऑयरन फुड के जरिए खून की कमी को दूर किया जा सकता है।

मंत्री ने बाल विवाह की प्रथा अब जारी रहने पर खेद व्यक्त किया। बाल विवाह को रोकने की जिम्मेदारी अभिभावकों की है। महिलाओं के जीवन में खुशी देखना ही मुख्यमंत्री वाईएस जगन की अभिलाषा है। इसीलिए शराब बंदी पर आवश्यक कदम उठा रहे है।

इस संदर्भ में मंत्री अवंती श्रीनिवास ने कहा कि विदेशी संस्कृति के आदी होकर हमारी परंपरा को भूलना नहीं चाहिए। हमारे पूर्वजों की विवाह परंपरा बहुत महान है। हर व्यक्ति को मूल्यवान के साथ जीवन जीना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने मंत्रिमंडल में तीन महिलाओं को मंत्रिमंडल में मौका दिया है। यह फैसला महिलाओं की प्रमुखता को दर्शाता है। देश के विकास में बालिकाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस कार्यक्रम में अनकापल्ली सांसद सत्यवती, विधायक तिप्पला नागिरेड्डी और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Advertisement
Back to Top