विजयवाड़ा : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने लोगों के स्वास्थ्य के बारे में एक और क्रांतिकारी कार्यक्रम का आगाज करने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री गुरुवार को सुबह 11.30 बजे जूनियर कॉलेज ग्राउण्ड में 'वाईएसआर कंटी वेलुगु' (नेत्र जांच) कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे।

कंटी वेलुगु कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के 5.40 करोड़ों लोगों की नेत्रों की जांच की जाएगी। जांच के बाद जरूरतमंदों का ऑपरेशन किया जाएगा। नेत्र जांच से लेकर ऑपरेशन सरकार ही निशुल्क किया जाएगा।

कंटी वेलुगु कार्यक्रम के अंतर्गत पहले चरण में सरकारी और निजी स्कूलों के लगभग 70 लाख छात्रों की नेत्र जांच की जाएगी। इसके अंतर्गत चश्मों का वितरण, आंखों के ऑपरेशन और अन्य चिकित्सा सेवा उपलब्ध की जाएगी।

यह भी पढ़ें :

CM KCR एक तानाशाह की तरह रवैया अपना रहे हैं : मल्लू भट्टी विक्रमार्क

TSRTC Strike : हड़ताल के समर्थन में हुई सर्वदलीय बैठक, सरकार को दी यह चेतावनी

इसके बाद तीसरे, चौथे, पांचवें और छठवें चरणों में कम्युनिटीबेस पर नेत्रों की जांच की जाएगी। अगले साल 1 फरवरी से इनके नेत्रों की जांच, चिकित्सा और अन्य कार्यक्रम किये जाएंगे। छह चरणों में होने वाले कंटी वेलुगु (नेत्र जांच) कार्यक्रम तीन साल तक जारी रहेंगे।

वाईएसआर कंटी वेलुगु कार्यक्रम के अंतर्गत 10 और 16 अक्टूबर को 70 लाख छात्रों की नेत्रों की जांच की जाएगी। इस दौरान नेत्र जांच के बाद प्रभावितों की पहचान कर 1 नवंबर से 31 दिसंबर तक दूसरे चरण के अंतर्गत ऑपरेशन किया जाएगा।

इस कंटी वेलुगु कार्यक्रम में 160 प्रोग्राम ऑफिसर और 1,415 चिकित्सा अधिकारी शामिल होंगे। सभी पीएचसी को नेत्र जांच किट्स भेज दिये गये हैं। इसके अलावा 42,360 आशा वर्कर्स, 6,2500 टीचर्स, 14,000 एएनएम, 14,000 प्रजा स्वास्थ्य कर्मचारी 'वाईएसआर कंटी वेलुगु' कार्यक्रमों में भाग लेंगे।