विजयवाड़ा : आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में वाईएससआर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों की ओर से तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के विधायक गंटा श्रीनिवासर राव, अनगानी सत्यप्रसाद और गद्दे राम मोहन के खिलाफ दायर चुनौती याचिका पर मंगलवार को सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद हाई कोर्ट ने टीडीपी के इन तीनों विधायकों को नोटिस जारी किया है। साथ ही इसके निर्वाचन क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारियों को भी नोटिस जारी किया है।

इसके बाद हाईकोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई 14 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी। जस्टिस मल्लावोलु सत्यनारायण मूर्ति, जस्टिस जी श्याम प्रसाद और जस्टिस एम रंगाराव ने ये नोटिस जारी किया है।

आपको बता दें कि विशाखा उत्तर निर्वाचन क्षेत्र के विधायक गंटा श्रीनिवास राव के चुनाव को रद्द किये जाने की मांग करते हुए के कन्नप्पा राजू, रेपल्ले निर्वाचन क्षेत्र के विधायक अनगानी सत्यप्रसाद के चुनाव को रद्द किये जाने की मांग करते हुए मोपीदेवी वेंकटरमण और विजयवाड़ा पूर्वी निर्वाचन क्षेत्र के विधायक गद्दे राम मोहन के चुनाव को रद्द किये जाने की मांग करते हुए बोप्पन भव कुमार ने याचिका दायर की है।

इसे भी पढ़ें :

कोडेला की मौत पर राजनीति न करें TDP के नेता, जांच के बाद सामने आएगी सच्चाई : गडिकोटा

राजकीय सम्मान के साथ होगा कोडेला शिवप्रसाद राव का अंतिम संस्कार, CM जगन ने दिये आदेश

याचिकाकर्ताओं की ओर से अधिवक्ता मलसानी मनोहर रेड्डी ने हाईकोर्ट में अपना पक्ष रखा। मनोहर रेड्डी ने बहस के दौरान हाईकोर्ट से कहा कि चुनाव नियम के अनुसार चुनाव लड़ने वाले व्यक्ति दायर हलफनामे में आय और पेशे की जानकारी देनी चाहिए। मगर इन तीनों ने इसकी जानकारी नहीं दी। इन तीनों ने सच्चाई को छिपाकर हलफनामा दायर किया है। ऐसा करना चुनावी नियमों के खिलाफ है।

इसे भी पढ़ें :

कोडेला के निधन पर अफवाहों का बाजार गर्म, जांच में जुटी बंजारा हिल्स पुलिस

कोडेला के शव का हुआ पोस्टमार्टम, मंगलवार को अंतिम संस्कार, सिट गठित