विजयवाड़ा : मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने बुधवार को रेत नीति पर समीक्षा बैठक की। इस अवसर पर वाईएस जगन ने कहा कि रेत में हो रहे भ्रष्टाचार को रोकने के कारण कुछ लोग सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि रेत की तस्करी को रोकने के लिए चेक पोस्टों के पास सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं। साथ ही फुटेज की मॉनिटरिंग की व्यवस्था भी की जाये। इसके अलावा बड़े पैमाने पर रेत रखने वालों के लिए विशेष स्टाक यार्डों को स्थापित किया जाये।

उन्होंने रेत के स्टाक यार्ड सेंटरों को बढ़ाने के भी अधिकारियों को आदेश दिये। जैसे ही बाढ़ कम होगी, रेत को जल्द से जल्द स्टाक यार्डों को ले जाने के लिए आवश्यक कदम उठाये। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि रेत माफिया को रोकने के लिए तकनीकी का सहयोग लिया जाये। लोगों को किसी प्रकार की मुश्किलें उत्पन्न होने से पहले ही अधिकारी इसके लिए आवश्यक कदम उठायें।

इसे भी पढ़ें :

TDP के पूर्व विधायक चिंतमनेनी गिरफ्तार, 6 महिला कांस्टेबल बंदी, यह है मामला, देखिए वीडियो

वाईएस जगन ने आगे कहा कि रेत को लेकर हो रहे भ्रष्टाचार रोकने के लिए अधिकारी जागरूक रहें और आवश्यक कदम उठाएं। रेत की कठिनायों को तुरंत दूर किया जाये। जहां पर भी रेत की समस्या है, वहां के निर्माण वालों को इसकी जानकारी दें। ऐसा करने से निर्माणकर्ताओँ को रेत का स्टाक जमा कर पाने में आसानी होगी। इसी दौरान अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को प्रदेश की रेत और उससे संबंधित पूरी जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें :

‘चलो आत्मकुरु’ : चंद्रबाबू के आवास के पास टीडीपी का ओवर एक्शन, कई नेता हाउस अरेस्ट

रास्ता रोकने पर पुलिस पर भड़के टीडीपी नेता, अधिकारी को कहा ‘यूजलेस फेलो’

इसके अलावा वाईएस जगन ने स्पंदना कार्यक्रम की अधिकारियों के साथ समीक्षा की। साथ ही लोगों की शिकायतों का जल्द से जल्द निपटारा करने के निर्देश दिये। इसी क्रम में आगामी 2 अक्टूबर से लागू किये जाने वाले वार्ड सचिवालय और गांव सेक्रेटरियट की समीक्षा बैठक भी की।