विजयवाड़ा : नगर मंत्री बोत्सा सत्यनारायण ने एक बार फिर स्पष्ट किया है कि वे आंध्र प्रदेश की राजधानी पर अपनी टिप्पणियों के लिए प्रतिबद्ध हैं।

बोत्सा ने कहा कि राजधानी किसी एक वर्ग की, किसी एक व्यक्ति की नहीं है बल्कि राज्य की पांच करोड़ जनता की है और कोई भी फैसला जनता के हित में ही लिया जाएगा।

राजधानी के विषय में शिवरामकृष्णा कमिटी के नियमों का पूर्व टीडीपी की सरकार ने पालन नहीं किया और मंत्री नारायण कमिटी के नाम पर सारे निर्णय लिये, कहकर आलोचना की।

इसे भी पढ़ें :

कोडेला शिवा प्रसाद राव के खिलाफ मामला दर्ज, जानने के लिए पढ़ें खबर

बोत्सा ने प्रश्न किया कि अमरावती प्रांत को बाढ़ का खतरा है, 8 लाख क्यूसेक पानी से ही बाढ़ का खतरा बढ़ जाता है, ऐसे में 11 लाख क्यूसेक बाढ़ का पानी आ जाए तो कैसी परिस्थिति होगी।

राजधानी के विषय में जनसेना प्रमुख पवन कल्याण की टिप्पणियों की भी बोत्सा ने आलोचना की। वहीं बोत्सा ने ये भी कहा कि पूर्व स्पीकर कोडेला पर कानून अपना काम कर रहा है, इस विषय में हम कुछ नहीं कह सकते।