गुंटूर : आंध्र प्रदेश विधानसभा के फर्नीचर चोरी मामले में नया ट्विस्ट सामने आया है। सत्तेनपल्ली स्थित कोडेला शिवप्रसाद राव के मकान में गुरुवार की आधी रात को चोरी हुई है। चोर दो कंप्यूटर ले गये।

इस घटना के बारे में वॉचमैन ने कहा कि रात के एक बजे के आसपास चोरी हुई है। उसने यह भी बताया कि मकान में बिजली के मरम्मत का काम है, यह कहते हुए दो लोगों ने अंदर प्रवेश किया। इसके बाद दोनों ने मुझे धक्का मारकर कंप्यूटर लेकर फरार हो गये।

गौरतलब है कि कोडेला पर आरोप है कि वह विधानसभा भवन से कीमती फर्नीचर अपने घर ले गये हैं। ऐसे समय में उनके मकान में चोरी होना अनेक प्रकार के संदेह को जन्म दे रही है।

इसी क्रम में कोडेला के निवास में फर्नीचर्स की जांच करने के लिए आज विधानसभा के अधिकारी आने वाले हैं। ऐसे समय में चोरी घटना को अनेक संदेह को जन्म दे रही है। यह भी चर्चा है कि कंप्यूटर में दर्ज समाचार को गायब करने के उद्देश्य से ही कंप्यूटर की चोरी की गई है। संदेह को तब बल मिला जब चोरों ने मानिटर को थोड़ी दूर ले जाकर फेंक दिया और सीपी को मात्र उठाकर ले गये। स्थानीयय लोगों का आरोप है कि यह चोरी नहीं है बल्कि एक योजनाबद्ध तरीकी से की गई चाल है।

इसे भी पढ़ें :

वरिष्ठ पत्रकार देवुलपल्ली अमर आंध्र प्रदेश सरकार के सलाहकार नियुक्त

तेलंगाना राष्ट्र समिति के 60 लाख बने सदस्य, सबसे ज्यादा और कम जानने के लिए पढ़ें खबर

आपको बता दें कि इससे कोडेला ने स्वीकार किया है कि विधानसभा से कुछ कीमती सामनों को वह अपने मकान पर ले आये हैं। इस सामन को वापस करने को तैयार है या कीमत बता दें तो देने को तैयार है। कोडेला के 'फर्नीचर्स' मामले की सरकारी अधिकारी जांच में जुटी है।