विजयवाड़ा : मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि सरकार मजबूत रहने पर प्रदेश में निवेश आते हैं। साथ ही निवेश को आकर्षित करने के लिए भ्रष्टाचार मुक्त शासन जरूरी है। हमारी सरकार पारदर्शिता के साथ आगे बढ़ रही है। सत्ता में आने के केवल 60 दिनों में क्रांतिकारी फैसले लिये गये हैं। वाईएस जगन ने शुक्रवार को डिप्लोमेटिक आउटरीच सम्मेलन में यह बात कही।

उन्होंने कहा, "आंध्र प्रदेश में निवेश के लिए अनेक अवसर है। हमारे पास हैदराबाद, बेंगलूरु और चेन्नई जैसे मेट्रो सिटी नहीं है। हमारी कमजोरियाँ हम जानते हैं। मगर हमारी ताकत को भी आपको बताना हमारा कर्तव्य हैं। हमारे पास लंबा तटीय क्षेत्र हैं। हमारे पास अच्छे संसाधन हैं। हमारी सरकार स्थिर हैं। भ्रष्टाचार मुक्त शासन हमारा लक्ष्य है। पारदर्शिता शासन दिया जा रहा है। विधानसभा में अनेक कानून बनाये हैं। क्रांतिकारी फैसले लिये गये हैं।"

मुख्यमंत्री ने कहा, "970 किलोमीटर कोस्टल लाइन हैं। चार बंदरगाह हैं। छह हवाईअड्डे हैं। यह हमारी शक्तियां हैं। कोई भी सरकार मजबूत रहने पर ही निवेश आते हैं। पिछले चुनाव में 86 फीसदी सीटों पर जीत हासिल की है। संसदीय सीटों में देखा जाये तो हमारी पार्टी देश में चौथे स्थान पर हैं। पड़ोसी राज्यों से अच्छे संबंध हैं। इसी तरह केंद्र सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है। पारदर्शिता और भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने के लिये वचनबद्ध है। हर क्षेत्र में क्रांतिकारी कदम उठाये गये हैं।"

मुख्यमंत्री कह, "निवेश करने वालों की कड़ी सुरक्षा प्रदान की जायेगी। सत्ता की बागडोर संभालने के बाद बिजली समस्या थी। 20 हजार करोड़ बकाया है। इसके निवारण के लिए आवश्यक कदम उठाये गये है।"

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने शहर के होटल ताज गेटवे में डिप्लोमेटिक आउटरीच सम्मेलन का उद्घाटन किया। वाईएस जगन शुक्रवार को दीप प्रज्जवलितकर सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य निवेश के लिए विदेशी पूंजीपतियों को आमंत्रिण करना है। साथ ही आंध्र प्रदेश के नवरत्नालु को अवगत करना है।

वाईएस जगन ने निवेशकों से आह्वान किया कि बड़े पैमाने पर आंध्र प्रदेश में निवेश करने के लिए आगे आयें। सरकार आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने के लिए तैयार हैं।

सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए वाईएस जगन मोहन रेड्डी
सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए वाईएस जगन मोहन रेड्डी

इस अवसर पर वित्त मंत्री बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी सम्मेलन को संबोधित करेंगे और निवेशों के अवसर और दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में अपने विचार रखेंगे। इसी क्रम में प्रदेश के मुख्य सचिव एलवी सुब्रह्मण्यम प्रदेश सरकार के नवरत्नालु, पूंजी निवेश के अवसर, पर्यटन और हेल्थ सेक्टर जैसे मुद्दों पर अपने विचार व्यक्त करेंगे।

दोपहर बाद मुख्यमंत्री वाईएस जगन अनेक राजदूतों और काउंसलेट जनरल से रूबरू होंगे। इस सम्मेलन में अमेरिका, यूके, जापान, कनाडा, कोरिया, सिंगापुर, ऑस्ट्रिया, पोलैंड, ऑस्ट्रेलिया, तुर्की जैसे 35 देशों के प्रतिनिधि और अधिकारी भाग ले रहे हैं।

यह भी पढ़ें :

विजयवाड़ा में आज डिप्लोमेटिक आउटरीच सम्मेलन, CM जगन का होगा मुख्य संबोधन