विजयवाड़ा : राज्य में 108 एंबुलेंस की संख्या बढ़ाने के लिए कदम उठाए गए हैं, यह जानकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री आल्ला नानी ने विधानसभा में दी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य में सिर्फ 439 एंबुलेंस है और इसकी संख्या बढ़ाकर 710 की जाएगी।

सोमवार को आंध्र प्रदेश विधानसभा की चर्चा शुरू होते ही अध्यक्ष तम्मिनेनी सीताराम ने प्रश्नोत्तरकाल प्रारंभ किया। इस अवसर पर 108, 104 पर जब कुछ सदस्यों ने प्रश्न किया तो मंत्री ने उनको उत्तर देते हुए ये बातें कही।

कुछ सदस्यों ने कहा कि दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी द्वारा शुरू की गई 108, 104 एंबुलेंस सेवा पिछली सरकार के समय लापरवाही का शिकार हुई।

आल्ला नानी ने कहा कि गरीब जनता के स्वास्थ्य को लेकर वाईएसआर को चिंता थी इसलिए उन्होंने कई कदम उठाए पर उनके बाद किसी ने गरीबों की चिंता नहीं की तभी तो अब स्थितियां इतनी बिगड़ गई है।

टीडीपी सरकार द्वारा पिछले पांच वर्षों के लिए धन के अपर्याप्त आवंटन के कारण 108 और 104 योजनाएं पूरी तरह समाप्त हो गई हैं। इन सेवाओं को फिर से गरीब जनता तक पहुंचाना ही मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्‍डी का लक्ष्य है और उन्होंने इससे संबंधित कार्य शुरू भी कर दिए हैं।

आल्ला नानी ने कहा कि इन कार्यों को प्राथमिकता देते हुए इस बजट में 104 के लिए 179.76 करोड़ और 108 के लिए 143.38 करोड़ आवंटित भी कर दिए हैं। इसके अलावा जो अब तक नहीं थी ऐसी भी कई योजनाओं को हम जनता तक पहुंचाएंगे।

इसे भी पढ़ें :

तुगलकी शासन किसका है यह जनता बेहतर जानती है - जोगी रमेश

हम आंख और कान से संबंधित सेवाएं जनता को प्रदान करने के लिए भी कदम उठा रहे हैं। 104 वाहन में दवाओं की कमी न हो इस बात पर भी ध्यान दिया जाएगा। दूसरी ओर 108 एंबुलेंस समय का ठीक से पालन करे इस बात पर भी ध्यान देंगे।

इससे पहले वाईएसआरसीपी विधायक गोपीरेड्डी श्रीनिवास रेड्डी ने कहा कि दिवंगत मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई 108 एंबुलेंस राष्ट्र के लिए आदर्श है। पिछली सरकार में ये सेवाएं पूरी तरह से समाप्त हो गई थी।