विजयवाड़ा : आंध्र प्रदेश के जलसंसाधन मंत्री अनिल कुमार यादव ने विधानसभा के बजट सत्र में कहा कि पोलावरम प्रॉजेक्ट आंध्र के लिए संजीवनी जैसा ही है। दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी ने इस प्रॉजेक्ट के निर्माण के लिए केंद्र की अनुमति हासिल की थी।

सोमवार को विधानसभा के बजट सत्र में बोलते हुए उन्होंने कहा कि इस प्रॉजेक्ट में पिछली सरकार ने बहुत धांधली की और 350 करोड़ के घोटाले का आरोप भी लगाया। एक लाख छ: हजार परिवारों को आर एंड आर पैकेज के अंतर्गत स्थानांतरित करने की जरूरत है।

वाईएसआर नहरों की खुदाई न हुई होती तो भूमि अधिग्रहण पर अतिरिक्त अरबों रुपये खर्च हो जाते। विस्थापितों के साथ न्याय करने की बात भी मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने कही है। पिछली सरकार ने सिर्फ पोलावरम प्रॉजेक्ट की फोटो ली है, काम निपटाने के बारे में नहीं सोचा।

इसे भी पढ़ें :

चंद्रबाबू के विदेशी दौरे से हासिल कुछ नहीं हुआ, उल्टे इतने करोड़ का लोगों पर भार पड़ा: काकाणी

लाखों विस्थापित परिवारों की सुध भी पिछली सरकार ने नहीं ली। प्रॉजेक्ट का बजट बढ़ाने और अतिरिक्त बजट को अपने नाम करने के अलावा पिछली सरकार ने कुछ नहीं किया।

इसके बाद वाईएसआरसीपी विधायक तेल्लम बालराजु ने कहा कि पोलावरम प्रॉजेक्ट वाईएस राजशेखर रेड्डी का सपना है और हम इसे पूरा करके रहेंगे। टीडीपी की सरकार ने पोलावरम को पूरा करने के बारे में गंभीरता से कभी नहीं सोचा।

सोमवार को विधानसभा के बजट सत्र में उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने कभी विस्थापित परिवारों के बारे में भी नहीं सोचा और न ही उनके लिए कुछ किया। टीडीपी की लापरवाही और धांधली की वजह से ही अब तक पोलावरम प्रॉजेक्ट पूरा नहीं हो पाया है।