चंद्रबाबू के विदेशी दौरे से हासिल कुछ नहीं हुआ, उल्टे इतने करोड़ का लोगों पर भार पड़ा: काकाणी

विधानसभा अध्यक्ष तम्मिनेनी सीताराम - Sakshi Samachar

विजयवाड़ा : आंध्र प्रदेश विधानसभा बजट सत्र जारी है। सुबह 9 बजे प्रश्नोत्तरकाल बजट सत्र आरंभ हुआ। विधानसभा सत्र शुरू होते हुए ही विपक्ष ने मांग की कि उनके द्वारा पेश किये गये स्थागनादेश प्रस्ताव पर चर्चा किया जाये। विपक्ष के प्रस्ताव को विधानसभा अध्यक्ष तम्मिनेनी सीताराम ने ठुकरा दिया। प्रश्नोत्तरकाल के बाद दोनों सदनों में बजट पर चर्चा होगी।

वित्तमंत्री बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी ने बताया कि दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी के आग्रह के अनुसार 'किया मोटर्स' (KIA Motors) ने पहला प्लांट एपी में स्थापित किया। अब फिर मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने 'किया मोटार्स' को पत्र लिखा है। वित्तमंत्री ने सोमवार को बजट सत्र के दौरान जारी चर्चा के दौरान यह बात कही।

बुग्गना ने कहा, "'किया मोटार्स' के सीईओ ने पत्र में लिखा है कि साल 2007 से वाईएसआर के साथ हमारे संबंध है। ऑटो मोबाइल में पूंजी निवेश किये जाने के वाईएसआर आर के जिक्र का भी पत्र में उल्लेख है। पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू 38 बार विदेशी दौरे कर चुके हैं। चंद्रबाबू जैसा किसी भी मुख्यमंत्री ने विदेशी दौरे नहीं किये हैं।"

यह भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश पहुंचे राष्ट्रपति, सीएम जगन ने किया स्वागत

दो दिन एपी दौरे के बाद राष्ट्रपति कोविंद दिल्ली रवाना, सीएम वाईएस जगन ने दी विदाई

इसी क्रम में विधायक काकाणी गोवर्धन रेड्डी ने विधानसभा में कहा कि चंद्रबाबू के विदेशी दौरे से प्रदेश को कुछ भी हासिल नहीं हुआ। मगर इसका भार लोगों पर काफी पड़ा है। उन्होंने बताया कि चंद्रबाबू के विदेशी दौरे से 39 करोड़ रुपये बर्बाद हो गये हैं। एपी को आईटी कंपनियां आ रही है कहकर चंद्राबाबू ने युवकों के साथ धोखा दिया है। चंद्रबाबू ने पांच बिलियन डालर पूंजी निवेश होने की बात बताई। मगर ऐसे कुछ भी पूंजी निवेश नहीं हुआ है।

Advertisement
Back to Top