श्रीकाकुलम : आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में पलासा के पास काजू की फैक्ट्रियों में कामकाज ठप होने को लेकर स्थानीय विधायक ने पहल की है और काम करने वाले कर्मचारियों के साथ-साथ फैक्ट्री प्रबंधन के बीच मध्यस्थता करते हुए मामले को सुलझाने की कोशिश की है।

आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश के पलासा इलाके में कुछ काजू की फैक्ट्रियां हैं जिन में काम करने वाले मजदूरों के लिए 12 फ़ीसदी मजदूरी बढ़ाने की बात कही गई थी लेकिन ऐसा ना होते देख मजदूरों ने काम करना बंद कर दिया था। इसको लेकर वहां पर काफी परेशानी हो रही थी।

ऐसी स्थिति में पलासा के वाईएसआरसीपी के विधायक डॉ सीदरी अपाला राजू ने मजदूर नेताओं और कंपनी प्रबंधन के बीच मध्यस्थता की और दोनों को बैठकर मामले को सुलझाने की अपील की।

वाईएसआरसीपी एमएलए की पहल पर 1 सप्ताह से बंद काजू यूनिटों के पुनः चालू होने की उम्मीद जताई जा रही है।

इसे भी पढ़ें :

CM जगन मोहन ने सिंचाई के लिए 9 घंटे बिजली आपूर्ति को लेकर की समीक्षा

335वें दिन की पदयात्रा को तस्वीरों में देखिये

मैनेजमेंट के लोगों का कहना था कि तितली तूफान की वजह से काफी नुकसान हुआ है। ऐसे में वह अपने वायदे के मुताबिक मजदूरों की सैलरी में 12% की बढ़ोतरी नहीं कर पा रहे हैं। विधायक ने दोनों पक्ष के लोगों को मिलकर कोई रास्ता निकालने की अपील की है ताकि इलाके के 300 काजू यूनिटों को फिर से खोला जा सके और कहां पर काम शुरू किया जा सके।