विजयवाडा : आंध्र प्रदेश विधान परिषद के चीफ विप के रूप में वाईएसआरसीपी के वरिष्ठ नेता और एमएलसी उम्मारेड्डी वेंकटेश्वर्लु नियुक्त किये गये। साथ ही विधान परिषद के विप के रूप में गंगुला प्रभाकर रेड्डी चुने गये।

सरकार मंगलवार को आधिकारिक रूप से यह आदेश जारी किया है। गौरतलब है कि विधान परिषद में वाईएसआरसीपी दल के नेता के रूप में उपमुख्यमंत्री पिल्ली सुभाष चंद्रबोस को नियुक्त किया गया है।

साथ ही विधान परिषद अध्यक्ष शरीफ अहमद ने टीडीपी दल के नेता के रूप में यममला रामकृष्णुडु के नियुक्त किये जाने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें :

कोना रघुपति निर्विरोध चुने गए आंध्र प्रदेश के डिप्टी स्पीकर

राज्य के लिए संजीवनी की तरह है विशेष दर्जा, नहीं चाहिए पैकेज : YS जगन, वीडियो भी देखें

इससे पहले विधानसभा में वाईएस जगन ने कहा, "विशेष दर्जा प्रदेश के लिए संजीवनी है। इस बात को ध्यान में रखते हुए बिना विलंब किये विशेष दर्जा देने की प्रदेश की पांच करोड़ लोगों की ओर से केंद्र सरकार से आग्रह कर रहा हूं। आंध्र प्रदेश के लोगों को विशेष दर्जा चाहिए यह बताने के लिए विशेष दर्जा प्रस्ताव पेश कर रहा हूं। विशेष दर्जा देने का आश्वासन देने के बाद ही प्रदेश का विभाजन किया गया। दिये गये आश्वासन की अमलावरी नहीं करने वाली संसद को क्या प्रदेश का विभाजन का अधिकार रहना क्या न्याय है? युवकों को रोजगार मिलना हो या प्रदेश के औद्योगिक रूप से विकसित होनो हो तो विशेष दर्जा जरूरी है। विशेष दर्जा मिलने के बाद ही प्रदेश का विकास संभव है।"

मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने कहा, "देश के इतिहास में पहली बार सामाजिक मंत्रिमंडल का गठन किया गया। वाईएसआरसीपी द्वारा घोषित नवरत्नालु से सभी वर्ग के लोगों को लाभ पहुंचेगा। नामिनेटेड पदों पर भी सामाजिक न्याय किया जा जाएगा। पिछली सरकार के शासनकाल में प्रशासन पूरी तरह से तहस नहस हो चुकी थी। पतन हो रही राजनीति व्यवस्था में परिवर्तन ले आने के लिए ही मैंने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है। नीतिवान शासन करके दिखायेंगे। ऐसा करने पर ही प्रदेश का भला होगा। निविदाओं की प्रक्रिया के लिए ज्यूडिशयल कमीशन को स्थापित किया जाएगा। जज की अनुमति से निविदाएं आमंत्रि करने की प्रक्रिया देश में कहीं पर भी नहीं है। रिवर्स टेंडरिंग के कारण भ्रष्टाचार और बेकार खर्च पर अंकुश लगाया जाएगा।"

वाईएस जगन ने कहा, "लोगों ने जो भरोसा मुझ पर किया है, उसे जरूर पूरा करूंगा। लोगों की अपेक्षाओं और आशाओं के अनुसार ही आने वाले इन पांच सालों में मेरी योजनाएं होगी। विशेष दर्जा लोगों की संजीवनी है। विशेष दर्जा के लिए केंद्र सरकार पर दबाव बनाऊंगा। चुनावी घोषणापत्र को मैं भगवतगीता, कुरान और बाईबिल मानता हूं। सीएम और मंत्रियों के चैंबर्स में हमारी घोषणापत्र दिखाई देगी। किसानों बिना ब्याज का कर्ज दिया जाएगा। 15 अक्टूबर से रैतु भरोसा की अमलावरी की जाएगी। आश्वासन के एक साल पहले ही रैतु भरोसा योजना को लागू किया जाएगा। किसानों के कल्याण के लिए तीन हजार करोड़ रुपये से दामों के स्थिरीकरण निधि स्थापित किया जाएगा।"