पूर्वी गोदावरी : वाईएसआरसीपी से सहानुभूति रखते हैं यह मानकर एनिमेटरों को बदले से प्रेरित होकर बहुत सताया गया। हर कदम पर अपमान किया गया।

टीडीपी के शासनकाल में आधे-अधूरे यानि कम वेतन पर काम करने वाले एनिमेटरों को कई तरह से सताया गया, आंखों में आंसू भरकर अपनी समस्याओं के बारें में कई एनिमेटरों ने बताया।स्थानीय वेलुगु कार्यक्रम के दौरान एनिमेटरों के साथ चर्चा की गई।

इस चर्चा में मुख्य अतिथि के तौर पर जेडपीटीसी चिन्नम अपर्णा पुल्लेश, एमपीटीसी सदस्य सिरिपुरपु श्रीनिवास राव, अंपोलु साईलक्ष्मी, सोसाइटी के अध्यक्ष नल्लमिल्ली वेंकटरेड्डी (चिनकापु) आदि शामिल हुए।

इस चर्चा में एनिमेटर कोट सत्यवती ने रोते हुए कहा कि, मैं वाईएसआरसीपी से सहानुभूति रखती हूं यह मानकर मुझे नौकरी से निकालने की कई तरह से कोशिशें की।

पेदरुपाक की रहनेवाली पसगाडी वेंकटलक्ष्मी ने कहा कि, मुझे भी टीडीपी नेताओं ने बहुत सताया। उन लोगों ने यह भी नहीं सोचा कि मैं दिव्यांग हूं, मुझसे किसी तरह की सहानुभूति तक नहीं रखी गई।

माचवर की रहने वाली पी. सूर्यकुमारी ने भी खुद को दी गई तकलीफ के बारे में विस्तार से बताया।

कुरकाल्लपल्ली, वेंटुरु ग्राम में एनिमेटर के तौर पर काम करने वाली एनिमेटर ने कहा कि टीडीपी के प्रजा प्रतिनिधि ने बदले से प्रेरित होकर मुझे बहुत सताया। वाईएसआरसीपी से सहानुभूति रखती हूं यह मानकर ही मुझे सताया गया।

इसे भी पढ़ें :

YSRCP समर्थक के साथ तेदेपा नेताओं की बदसलूकी, बीच सड़क उतरवाया कपड़ा

वहीं मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कम से कम हमें वेतन तो दे रहे हैं, यह कहकर उन्होंने संतोष व्यक्त किया। एनिमेटरों की समस्याओं को सुनकर व जानकर जेडपीटीसी पुल्लेश ने कहा कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के शासन में इन्हें ऐसी कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा।

एनिमेटरों के साथ सरकार है और वह उनका पूरा साथ देगी, यह कहा एमपीटीसी के सदस्य सिरिपुरपु श्रीनिवासराव, अमपोलु साईलक्ष्मी, सोसाइटी के अध्यक्ष नल्लमिल्ली वेंकटरेड्डी (चिनकापु) ने उन्हें पूरा भरोसा दिलाया।