नई दिल्ली : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी दिल्ली पहुंच गए हैं और कुछ ही देर पहले वे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से भी मिले। पुनर्विभाजन कानून के तहत लंबित विषयों पर उन्होंने अमित शाह से चर्चा की।

आंध्र प्रदेश की अभिवृद्धि से संबंधित कार्यों के लिए वे दो-तीन दिन वहीं रुकने वाले हैं। कल नीति आयोग की बैठक में वे भाग लेंगे। इसके बाद वाईएसआरसीपी संसदीय दल की बैठक में भी वे शामिल होंगे। बैठक में कैसे और क्या करना है इस पर भी पार्टी के सांसदों से विचार-विमर्श करेंगे। आंध्र की समस्याओं को कैसे प्रस्तुत करना है इस पर भी सांसदों को दिशा-निर्देश देंगे।

पुनर्विभाजन के कुछ अंशों पर समस्याओं को सुलझाने के लिए दोनों राज्यों ने गवर्नर नरसिंहन को कहा है और हाल ही में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने पत्र भी लिखा, जो सबको पता ही है।

इसे भी पढ़ें :

AP CM YS जगन के बड़ी बाटा कार्यक्रम को तस्वीरों में देखिए

लाभ अर्जित करने वाले सरकारी उपक्रमों की निधि का बंटवारा किस अनुपात में होना चाहिए, इसका उल्लेख विभाजन कानून में नहीं होने का हवाला देते हुए वाईएस जगन ने राज्यपाल से अपने विशेषाधिकार का प्रयोग कर जल्द से जल्द इसका समाधान करने का अनुरोध किया।

उन्होंने कहा कि शेड्यूल 9 में आने वाली सरकारी उपक्रमों की संपत्तियों के बंटवारे के संबंध में शीला भिड़े कमेटी की सिफारिशों पर अभी तक अमल नहीं हो पाया है।