विजयवाड़ा : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने चंद्रबाबू नायडू के रवैये को लेकर आपत्ती व्यक्त की। उन्होंने उनके रवैये पर टिप्पणी की। स्पीकर पद पर तम्मिनेनी सीताराम का चयन होने के बाद उन्हें आसन तक पहुंचाने के लिए नेता प्रतिपक्ष का साथ में नहीं आना, विधानसभा में वाद-विवाद का विषय बना।

चंद्रबाबू नायडू का कहना था कि उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया, इसलिए वह बिना बुलाए वहां कैसे आ सकते हैं। इस पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने याद दिलाया कि प्रोटेम स्पीकर चिनाअप्पाला नायडू ने सभी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया। विधानसभा में यह घटना सभी के सामने घटी।

इसे भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश के नवनिर्वाचित स्पीकर तम्मीनेनी सीताराम को सदस्यों ने इस तरह दी बधाई

चंद्रबाबू नायडू ने इस घटना का रूख मोड दिया और उपरोक्त बयान दिया। उन्होंने कहा कि प्रोटेम स्पीकर ने उन्हें आमंत्रित किया था। इस बात पर नाराजगी व्यक्त करने की बजाय सम्मान से उनके साथ पेश नहीं आने का उन्होंने आरोप लगाया है। यह आरोप सरासर गलत है। उन्हें राजनीति का 40 वर्ष का अनुभव होने के बावजूद इस तरह का रवैया अपनाना उन्हें शोभा नहीं देता।