विजयवाडा : भारतीय कम्यनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय सचिव के नारायणा ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कम समय में ज्यादा कार्य कर रहे हैं। ऐसा करके वाईएस जगन एक डॉयनामिक मुख्यमंत्री साबित हो रहे हैं। नारायण ने मंगलवार को मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि तिरुपति स्थित राष्ट्रीय संस्कृति विद्यापीठ में प्राध्यापकों की नियुक्ति में आरक्षण का पालन नहीं किया जा रहा है। इस संदर्भ में उन्होंने यूजीसी चेयरमैन डीपी सिंह से मुलाकात की और उक्ताशय का एक ज्ञापन सौंपा।

सीपीआई राष्ट्रीय सचिव ने चेतावनी दी है कि यदि आरक्षण की ठीक प्रकार से पालन नहीं किया गया तो वे न्यायालय का दरवाजा खटखटायेंगे।

इसे भी पढ़ें :

बड़ों का पैर छूकर आशीर्वाद लेना कोई इस सीएम से सीखे, सोशल मीडिया पर मिल रही वाहवाही

मुख्यमंत्री YS जगन की पहली कैबिनेट बैठक में लिए गए ये बड़े फैसले

गौरतलब है कि कल हुई मंत्रिमंडल की बैठक में अनेक महत्वपूर्ण फैसले लिए गये। मुख्य रूप से कर्मचारियों को 27 फीसदी आंतरिम राहत को मंजूरी दी गई। इसके अलावा आशा वर्कर्स के वेतन 3000 से बढ़ाकर 10 हजार करने को भी मंजूरी दी गई। सामाजिक पेंशन बढ़ाकर 2,250 रुपये करने को मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी। इसके साथ ही 26 जनवरी 2020 से अम्मा बड़ी योजना की अमलावरी की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत बच्चों को स्कूल भेजने वाली माताओं के खातों में 15,000 रुपये जमा किये जाएंगे।

प्रदेश में आगामी 1 सितंबर से राशन सामान की डोर डिलवरी की जाएगी। चावल के साथ रोजमर्रा की पांच वस्तुएं दी जाएंगी। किसानों के लिए बोरवेल की निशुल्क खुदवाई कराई जाएगी। आरोग्यश्री मे कुछ और बीमारियों को शामिल करने का भी फैसला लिया गया। फसल बीमा प्रीमियम को सरकार ही भुगतान करेगी। एग्रीगोल्ड पीड़ितों के लिए 1,150 करोड़ की निधि मंजूर की गई है।

आगामी 15 अक्टूबर से शुरू होने वाली वाईएसआर रैतु भरोसा योजना को मंजूरी दी गई। सरकार में आरटीसी के विलय और सीपीसी रद्द किये जाने के मुद्दों पर चर्चा के लिए कमेटी गठित करने का फैसला लिया गया। साथ ही महिला, वृद्ध और विकलांग पेंशन की भी बढ़ोत्तरी की मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी गई।

आंगनवाड़ी टीचरों व कार्यक्ताओं को तेलंगाना में दिए जा रहे मानदेय से 1 हजार रुपए अधिक का भुगतान किया जाएगा

इससे पहले आंध्र प्रदेश में अंगनवाड़ी टीचरों व कार्यकर्ताओं को क्रमश 10,500 और 6,000 रुपये का मानदेय दिया जाता था, लेकिन अब मंत्रिमंडल ने उनका वेतन 11,500 और कार्यकर्ताओं को 7,000 रुपये कर दिया गया है।

ड्वाक्रा यानिमेटरों को...

पिछले चुनाव में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के घोषणा पत्र में ड्वाक्रा यानिमेटरों को 10 हजार रुपये का मानद वेतन करने का वादा किया था और उसी के तहत मंत्रिमंडल ने ड्वाक्रा यानिमेटरों व रिसोर्स पर्सन्स का मानदेय 3,500 से बढ़ाकर 10,000 रुपये करने को मंजूरी दी।

104 और 108 की सेवाएं बहाल...

कैबिनेट में हर मंडल में 104 और 108 वाहनों की व्यवस्था करने का फैसला लिया गया। जहां से भी फोन आने पर 20 मिनट के भीतर वहां पहुंचने की व्यवस्था और 104 वाहन में कर्मचारियों की नियुक्ति तथा दवाइयां उपलब्ध कराने के निर्णय को भी मंजूरी दी गई।

सभी योग्य लोगों को मिलेगा मकान

सरकारी भूमि खरीदी करने, मकान की जमीन नहीं रहने वाले परिवारों की महिलाओं के नाम पर मकान के लिए जमीन देनी चाहिए। मकान की जमीन का पट्टा देने पर बैंक से ऋण नहीं मिलता। इसलिए महिलाओं के नाम पर रिजिस्ट्रेशन करवाना चाहिए। मकान का निर्माण भी सरकार ही करेगी। दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी के नाम पर गरीबों को मकान बनाकर देना चाहिए।