अमरावती : तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) ने बुधवार को कहा कि चुनाव आयोग द्वारा वीवीपैट पर्चियों की गिनती ईवीएम की गिनती से पहले कराए जाने की मांग को खारिज करना ‘भारतीय लोकतंत्र के लिए काला दिन' है ।

चुनाव आयोग के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए तेदेपा ने महासचिव नारा लोकेश ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘ पारदर्शिता की निष्क्ष और जायज मांग को बिना किसी कारण के खारिज कर दिया गया। यह लोकतंत्र के लिए काला दिन है।''

इसे भी पढ़ें :

मतगणना से पहले वाई. एस. जगन और मुख्यमंत्री नायडू के आवासों के बाहर कड़ी सुरक्षा तैनात

वहीं एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि देश की ज्यादातर पार्टियों द्वारा पांच वीवीपीएटी पर्चियों की गिनती पहले करने की मांग को ठुकराकर चुनाव आयोग ने दिखा दिया कि वह किस तरफ हैं।

तेदेपा समेत करीब 22 गैर भाजपा दल ने गिनती प्रक्रिया शुरू होते ही पहले वीवीपीएटी पर्चियों की गिनती करने की मांग की थी। वहीं राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने कहा कि तेदेपा अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू वीवीपीएटी की मांग सिर्फ बाधा पहुंचाने के लिए कर रहे हैं।