हैदराबाद : आंध्र प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष एवं YSR कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष YS जगन मोहन रेड्डी ने चंद्रबाबू नायडू के पुन:मतदान को लेकर किये गये बयान व दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से की गई मुलाकात पर चंद्रबाबू नायडू पर सवालों की बौछार की।

उन्होंने निर्वाचन आयोग के मुताबिक पुन:मतदान लोकतंत्र की अवहेलना नहीं है। उन्होंने सवाल किया कि पुन:मतदान कराना लोकतंत्र है या रिगिंग कराना? चंद्रगिरी में दलितों को मताधिकार का उपयोग करने से टीडीपी के नेताओं ने रोका। इसका सबूत मुख्य चुनाव आयुक्त ने दिल्ली में चंद्रबाबू नायडू को दिखाया। टीडीपी के नेताओं का यह रवैया लोकतंत्र की अवहेलना है।

दलितों को वोट डालने से रोकना और रिगिंग करना लोकतंत्र की भावना के प्रतिकूल है। उन्होंने कहा कि टीडीपी की रिगिंग पर चेविरेड्डी ने रोकने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें ही दलितों से मिलने से पहले रोका गया। यह रवैया लोकतंत्र प्रणाली को ठेस पहुंचाता है।

इसे भी पढ़ें :

दिल्ली में चुनाव आयोग ने चंद्रबाबू को वीडियो दिखाकर बंद कर दी बोलती, चुपचाप लौटे घर

YSR कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष ने सवाल किया कि पुन:मतदान के नाम से चंद्रबाबू नायडू को इतना डर क्यों है? उन्होंने कहा कि चंद्रगिरी निर्वाचन क्षेत्र में 5 मतदान केंद्रों पर रिगिंग हुई और चुनाव लोकतंत्र प्रणाली से कराने के उद्देश्य से ही ईसी ने इन केंद्रों पर पुन:मतदान का निर्णय लिया है।