टीडीपी के गुंडों के पास है महिलाओं व बालिकाओं का डाटा : विजयसाई रेड्डी 

आईटी ग्रिड्स इंडिया कंपनी के कारनामों का खुलासा करते हुए विजयसाई रेड्डी - Sakshi Samachar

हैदराबाद : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सांसद विजयसाई रेड्डी ने तेलुगु देशम पार्टी पर लोगों के व्यक्तिगत डाटा चुराने का आरोप लगाते हुए कहा कि लड़कियों से संबंधित सूचना टीडीपी के गुंडों के पास है।

महिलाओं के आधार कार्ड, बैंक एकाउंट, फोन नंबर आदि जानकारी मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू नायडू के गिरोह के पास उपलब्ध होने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि मंत्री नारा लोकेश के जारिए ही लोगों का डाटा आईटी ग्रिड्स के पास पहुंचा है।

चंद्रबाबू पर उनके बेनामियों को सरकारी ठेके सौंपने का गंभीर आरोप लगाते हुए विजयसाई रेड्डी ने कहा कि सरकार को यह बताना होगा कि अभया ऐप के जरिए अब तक कितने बलात्कार के मामले रोके गए हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. वाईएस राजशेखर रेड्डी के शासनकाल में इस्तेमाल की गई टेक्नोलोजी का नाम बदल कर अब उसे सीएम डैश बोर्ड बताया जा रहा है।

डाटा चोरी  का तरीका दिखाते हुए वी. विजयसाई रेड्डी

उन्होंने मंगलवार को वाईएसआरसीपी कार्यालय में मीडिया से बातचीत में कहा कि 2016 में जे.सत्यनारायण के यूआईडीए के चेयरमैन बनने के बाद आधार डाटा को इस प्रगति से लिंक किया गया। यही नहीं, टीडीपी सरकार ने कल्याण योजनाओं के लिए डाटा को इस प्रगति के लिए लिंक करने का हवाला दिया है।

उसके बाद आधार डाटा को प्रगित के जरिए टीडीपी सेवा मित्र ऐप में ट्रांसफर किया गया। सेवामित्र ऐप को आईटी ग्रिड्स कंपनी ने तैयार किया है। डाटा चोरी की शिकायत मिलने के बाद तेलंगाना पुलिस ने आईटी ग्रिड्स के प्रबंध निदेशक डाकवरम अशोक के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

सेवामित्रा ऐप के जरिए लोगों के फोन में मौजूद सूचना को ट्रैक करने की आशंका व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू और उनके बेनामी अशोक से लोगों को बड़ा खतरा बना हुआ है। लोगों के फोन में स्टोरेज डाटा भी उनके पास जा चुका है।

उन्होंने कहा कि इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि चंद्रबाबू और अशोक से देश और राज्य के लोगों को कितना खतरा बना हुआ है। इन दोनों ने महिलाओं में असुरक्षा की भावना जगाई है। सेवामित्रा ऐप से टीडीपी चुनाव में सर्वे किया था।

इस तरह चुराया गया डाटा

इस सर्वे के दौरान जिन्होंने टीडीपी को लेकर असंतोष व्यक्त किया, उनके नाम वोटर लिस्ट से हटाने के लिए फार्म-७ आवेदन किया गया। आईटी मंत्री नारा लोकेश के द्वारा ही लोगों का व्यक्तिगत डाटा आईटी ग्रिड्स के पास पहुंचा है।

इसे भी पढ़ें :

AP में मतगणना को लेकर विजयसाई रेड्डी ने CEC को लिखा पत्र, केंद्रीय बल तैनात करने का अनुरोध

विजयसाई रेड्डी ने कहा कि आईटी ग्रिड्स के प्रबंध निदेशक अशोक ने दिल्ली में कई हैकरों से भेंट कर मतगणना के दिन किस तरह हैक करने से टीडीपी के अनुकूल परिणाम हासिल कर सकते, इस मुद्दे पर चर्चा करने की खबर है। इतना कुछ होने के बावजूद तेलंगाना और आंध्र पुलिस क्या कर रही है, यह कहना मुश्किल है।

उन्होंने बताया कि मतगणना के दिन सुरक्षा तैयारियों को लेकर चुनाव आयोग को पत्र लिखा गया है, क्योंकि टीडीपी नेताओं द्वारा कानून-व्यवस्था की समस्या खड़ा किए जाने की पूरी आशंका है। उन्होंने कहा कि वाईएस जगन पर जानलेवा हमला करने वाले श्रीनिवास राव गिरफ्तारी के वक्त बिलकुल स्वस्थ था और ऐसा व्यक्ति अब बीमार हो गया है। अगर उसे कुछ है तो उसके पीछे टीडीपी का हाथ ही हो सकता है।

Advertisement
Back to Top