नई दिल्ली: भाजपा राज्यसभा सदस्य GVL नरसिम्हा राव ने कहा कि टीडीपी अध्यक्ष एवं आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू चुनाव परिणाम घोषित होने से पहले ही बौखला रहे हैं। उन्हें चुनाव में हार का डर सता रहा है। वह EC के खिलाफ आरोप लगा कर खुद की साख बचाने का प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने याद दिलाया कि वर्ष 2014 के चुनाव में मतदान के लिए EVM का ही उपयोग किया गया था। अब भी EVM का उपयोग किया गया। उन्होंने सवाल किया कि चंद्रबाबू नायडू को EVM को लेकर अब आशंका क्यों पैदा हो रही है? वर्ष 2014 के चुनाव में चंद्रबाबू ने EVM को लेकर आपत्ती क्यों नहीं जताई?

GVL ने कहा कि अधिकारियों के तबादले करने पर चंद्रबाबू आपत्ति क्यों व्यक्त कर रहे हैं। आंध्र प्रदेश में तीन करोड़ लोगों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। उन्हें EVM को लेकर कोई आपत्ति नहीं हुई, अकेले चंद्रबाबू को ही ऐसा क्यों लगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुये कहा कि इस चुनाव में चंद्रबाबू के रवैये के खिलाफ मतदान के माध्यम से लोग जरूर सबक सिखाएंगे। टीडीपी उम्मीदवारों के डिपाजीट जब्त हो जाएंगे।

इसे भी पढ़ें:

हार के डर से आधारहीन आरोप लगा रहे चंद्रबाबू नायडू : रामकृष्ण रेड्डी

उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू का चालीस वर्ष का अनुभव कुछ काम नहीं आयेगा। उस अनुभव का कोई मायने नहीं है, इसका आइना इस चुनाव में दिख रहा है।