तिरुपति : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सुप्रीमो वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू नायडू अपने चुनाव प्रचार के लिए ऐसे नेताओं को लेकर आए जिन्होंने कभी आंध्र प्रदेश के लिए स्पेशल स्टेटस की मांग का समर्थन नहीं किया है।

जगन ने चंद्रबाबू से पूछा कि क्या इनमें से एक भी नेता स्पेशल स्टेटस मुद्दे पर आपके साथ देने का वादा किया है? चुनाव प्रचार के आखिरी दिन मंगलवार को चित्तूर जिले के तिरुपति लीलामहल सेंटर में आयोजित अंतिम चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएसआर के शासन में सभी में एक तरह का विश्वास देखने को मिलता था।

उन्होंने कहा कि कल के मुकाबले अगर आज अच्छा है तो उसे विकास कहते हैं, लेकिन चंद्रबाबू के शासन में हालात इसके बिलकुल विपरित है। उन्होंने कहा कि बाबू के शासन में किसान, ड्वाक्रा महिलाओं व बेरोजगारों के साथ विश्वासघात हुआ है।

आज की राजनीति में बदलाव की जरूरत पर जोर देते हुए जगन ने कहा कि अगर एक नेता दिया हुआ आश्वासन पूरा नहीं करता है तो उसे इस्तीफा देकर जाने की स्थिति पैदा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसा केवल अकेले जगन से संभव नहीं है,इसलिए अगले दो दिन में होने वाले चुनाव में बदलाव के लिए वोट देने की जरूरत है।

उन्होंने सत्ता में आते ही नवरत्नालु के जरिए हर किसी के जीवन में नई रोशनी भरने का आश्वासन दिया। उन्होंने तिरुपति विधानसभा सीट से पार्टी के उम्मीदवार भूमना करुणाकर रेड्डी और तिरुपति लोकसभा सीट से उम्मीदवार बल्ली दुर्गा प्रसाद को भारी बहुमत के साथ विजयी बनाने की अपील की। उन्होंने चुनाव में चुनाव चिन्ह फैन का बटन दबाने की अपील की।

इसे भी पढ़ें :

कम्मा और कापू के झुकाव से तय होगा मछलीपट्टनम का अगला सांसद

उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू नायडू द्वारा फीस रिअंबर्समेंट, आरोग्यश्री, 108 जैसी योजनाएं बंद कर दिए जाने से लोगों मुख्य रूप से गरीबों को परेशानी हो रही है। उन्होंने कहा कि आरोग्यश्री के दायरे में आने वाले अस्पतालों व बीमारियों की संख्या कम करने से लोगों को अपना इलाज के लिए हैदाराबद या चेन्नई जाना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू ने बेरोजगार युवाओं, किसानों, ड्वाक्रा महिलाओं के लिए गत चुनाव में कई आश्वासन दिए थे, लेकिन पिछले पांच सालों में उनमें से एक भी पूरा नहीं किया है। जगन ने बताया कि चुनाव करीब आते देख बाबू ने गत जनवरी से वृद्दावस्था पेंशन और बेरोजगारी भत्ता दे रहे हैं, जोकि एक बड़ा धोखा है।

इसे भी पढ़ें :

बाबू की भ्रष्ट सरकार से मुक्ति के लिए जगन को मुख्यमंत्री बनाना जरूरी : वाईएस शर्मिला

उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू नोट के बदले वोट मामले से खुद को बचाने के लिए राज्य के हितों से जुड़े स्पेशल स्टेटस को केंद्र के पास गिरवी रख दिया है। उन्होंने कहा कि स्पेशल स्टेटस के लिए वाईसीपी के सांसदों ने इस्तीफा दिया, लेकिन टीडीपी सांसदों ने इस आंदोलन में वाईसीपी का साथ नहीं दिया।

वाईएस जगन ने राज्य की भ्रष्ट और विश्वासघाती सरकार से मुक्ति के लिए 11 अप्रैल को होने वाले मतदान में बड़ी संख्या में भाग लेकर वाईसीपी को वोट देने की अपील की।