वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने 2019 के चुनाव के लिए अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी किया था, जिसका आधार YS राजशेखर रेड्डी के द्वारा शुरू की नवरत्नालु योजना ही था। जगन मोहन रेड्डी के शपथ लेते ही इन पर काम शुरू हो जाएगा।

इस घोषणा पत्र में मुख्य रूप से किसान, ड्वाक्रा महिलाओं, बीसी कल्याण. बेरोजगारों के लिए रोजगार, समाज के पिछड़े तबकों के लिए कई आश्वासन दिए हैं। उनमें मुख्य रूप से ये घोषणाएं शामिल हैं....

01. हर किसान परिवार को लागत के लिए 50 हजार देंगे। फसल बोने के वक्त मई के महीने में 12.500 रुपये देंगे

02. फसल बीमा के बारे में किसानों को सोचने की जरूरत नहीं है। किसान द्वारा भुगतान की जाने वाली बीमा प्रीमियम का भुगतान सरकार करेगी।

03. किसानों को ब्याज मुक्त ऋण देंगे

04 किसानों के लिए मुफ्त में बोरवेल खुदवाएंगे

05. किसानों के लिए दिन में नौ घंटे निशुक्ल बिजली आपूर्ति करेंगे

06. एक्वा किसानों को प्रति यूनिट बिजली 1.50 रुपये में दी जाएगी।

07. पेंशन की योग्यता सीमा 65 साल से घटाकर 60 साल करेंगे

08. वृद्धावस्था पेंशन राशि 3000 रुपये तक बढ़ाएंगे।

09. विकलांगों को पेंशन में 3 हजार रुपये देंगे

10. स्थाई मकान से वंचित सभी गरीबों को जाति-धर्म से ऊपर उठकर मकान बनाकर देंगे। पांच साल में 25 लाख पक्के मकान बनाएंगे।

उगादी पर पार्टी का घोषणापत्र जारी करने से पहले पंडित का आशीर्वाद लेते वाईएस जगन 
उगादी पर पार्टी का घोषणापत्र जारी करने से पहले पंडित का आशीर्वाद लेते वाईएस जगन 

11. मकान की जमीन से वंचित गरीबों को जमीन देंगे और उन्हीं के नाम पर उसका रिजिस्ट्रेशन करवार मकान भी बनाकर देंगे।

12. वार्षिक आय 5 लाख से अधिक नहीं रहने वाले वाईएसआर आरोग्य श्री योजना लागू होगी।

13. इलाज खर्च 1 हजार से अधिक होने पर लागू होगी आरोग्यश्री योजना, मिलेगा हर किसी को लाभ।

14. आरोग्यश्री के तहत (हैदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई सहित अन्य राज्यों) में आरोग्यश्री लागू होगी।

15 सभी प्रकार की बीमारियों और ऑपरेशन आरोग्यश्री के दायरे में होंगे।

16. किडनी, तलसेमिया जैसी लंबी बीमारियों से परेशान लोगों को अलग से हर महीने 10 हजार रुपये का पेंशन देंगे।

17. अम्मवड़ी कार्यक्रम के तहत अपने बच्चों को स्कूल भेजने वाली मां को सालाना 15 हजार रुपये देंगे।

18. वाईएसआर चेयूता योजना के जरिए हर बीसी, एससी, एसटी और माइनॉरिटी की बहनों के साथ खड़े रहेंगे।

19. 45 साल की आयु वाले हर बीसी, एससी, एसटी, अल्पसंख्यक महिलाओं को वाईएसआर चेयूत कार्यक्रम के जरिए पहले साल के बाद विभिन्न चरणों में विभिन्न निगमों के जरिए 75 हजार रुपये देंगे।

20. गरीब बच्चों की पढ़ाई में होने वाला पूरा खर्च वहन करेंगे।

21. फीस रिअंबर्समेंट के साथ आवास और भोजन के लिए प्रति विध्यार्ती सालना 20 हजार रुपए देंगे।

22. दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएसआर का सपना जलयज्ञम को पूरा करेंगे।

23. पोलावरम, पूलसुब्बय्या वेलिगोंडा सहित सभी परियोजनाओं को युद्ध स्तर पर पूरा करेंगे।

24. सीपीएस रद्द करेंगे। पुरानी पेंशन नीति पुनर बहाल करेंगे।

25. कर्मचारियों के इच्छानुसार सत्ता में आते ही 27 फीसदी आईआर देंगे। यही नहीं, समय पर PRC भी लागू करेंगे।

26. सभी सरकारी विभागों में कार्यरत कांट्रैक्ट कर्मचारियों को उनकी योग्यता और सेवा को ध्यान में रखते हुए अधिक से अधिक लोगों की सेवाएं नियमित करेंगे।

27. समान काम के लिए समान वेतन के आधार पर आउट सोर्सिंग से जुड़े लोगों के साथ इंसाफ करेंगे।

28. आंगनवाड़ी व आशा वर्करों, होम गार्ड के वेतन, तेलंगाना सरकार द्वारा दिये जा रहे वेतन से एक हजार रुपये बढ़ाकर देंगे। राज्य में कम वेतन वाले वीओए संघमित्र, यानिमेटरों के वेतन 10 हजार रुपये तक बढ़ाएंगे। वीआरओवीआरए के वेतन सहित नौकारियों की समस्या का समाधान करेंगे। सरकारी कर्मचारियों और विभिन्न क्षेत्रों में मकान की जमीन से वंचित लोगों को जमीन देंगे।

29. भगवान के आशीर्वाद से हम स्पेशल स्टेटस हासिल करेंगे और उसके जरिए ही हम नौकरियों की क्रांति लेकर आएंगे।

30. उद्योगों की स्थापना के लिए प्रोत्साहन के तौर पर दी जा रही सुविधाओं (जमीन, कर. विद्युत आदि) के साथ APIDC को बहाल कर उसके जरिए बेरोजगार युवाओं को सब्सिडी देकर नया अध्याय शुरू करेंगे।

31.स्पेशल स्टेटस हासिल करने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे।

32. हर गांव में ग्राम सचिवालय के जरिए एक गांव में 10 युवाओं को सरकारी नौकरी देंगे। यही नहीं, हर गांव और वार्ड में 50 मकानों के लिए एक के हिसाब से सेवा की इच्छा रखने वाले युवक-युवतियों को हर महीने 5 हजार रुपये का मानद वेतन देकर ग्राम वालीटिंयर के रूप में नियुक्त करेंगे।

33. फीस रिअंबर्समेंट, आरोग्यश्री, राशन, पेंशन आदि से जुड़ी समस्याओं को 72 घंटे के भीतर ग्राम सचिवलयों व वार्ड सचिवालयों के माध्यम से सुलझाएंगे।

34. राज्य में वर्तमान में रिक्त 2,30,000 नौकरियों की भर्ती करने के साथ हर साल 1 जनवारी को सरकारी कर्मचारियों की भर्ती के लिए कैलेंडर जारी करेंगे।

35. आंध्र प्रदेश में मौजूद उद्योगों में 75 फीसदी नौकारियां स्थानीय युवाओं को मिल सके, ऐसा कानून बनाया जाएगा।

36. दिए हुए आश्वासन के मुताबिक एग्री गोल्ड के पीड़ितों के लिए 1,150 करोड़ रुपये आवंटित कर उसके जरिए सरकारी आंकड़ों के मुताबिक मौजूद 13 लाख पीड़ितों तुरंत राहत पहुंचाएंगे। बाकी लोगों की समस्याएं जल्द से जल्द सुलझाने की दिशा में काम करेंगे।

37. तिरुमला में भगवान वेंकटेश्वर स्वामी के मंदिर के कपाटों को ग्वालाओं द्वारा खोलने की परंपरा फिर से बहाल करेंगे।

38. गढ़रियों को हर भेड़-बकरी की मृत्यु पर 6 हजार रुपये दिए जाएंगे।

39. खुद का ऑटो और टैक्सी चलाने वालों को बीमा, फिटनेस, रिपेर आदि जरूरतों के लिए सालाना 10 हजार रुपए देंगे।

40. 18 से 60 साल की उम्र तक किसी भी व्यक्ति की सहज मृत्यु होने पर उसके परिवार को वाईएसआर बीमा योजना के तहत 1 लाख रुपये देंगे।

41. एससी के लिए तीन कार्पोरेशन बनाए जाएंगे, जिनमें (मादिगा, माला और रेल्ली आदि जातियों के लिए)

42. एससी और एसटी की बहनों की शादी के लिए वाईएसआर पेल्ली कानूका के तहत 1 लाख रुपये देंगे।

43. एससी, एसटी को भूमि वितरण कार्यक्रम के साथ मुफ्त में बोरवेल की सुविधा भी देंगे।

44. आदिवासियों के लिए विशेष जिले की व्यवस्था कर उनमें विशेष रूप से यूनिवर्सिटी के अलावा मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों की व्यवस्था करेंगे।

45. 500 से अधिक आबादी वाले तांडा और कस्बे को पंचायत में तब्दील करेंगे।

46. हर आईटीडीए की परिधि में एक सुपरस्पेशालिटी अस्पताल बनाएंगे।

47. दुर्घटनावश एससी या एसटी के लोगों के मरने पर उनके परिवार को वाईएसआर बीमा के तहत 5 लाख रुपये देंगे।

48. सत्ता में आने के तुरंत बाद मौजूदा सरकारी स्कूलों के मुखचित्र आपके सामने रखेंगे। दो सालों में उनकी दशा-दिशा बदल कर आपके सामने पेश करेंगे। स्कूलों में स्कूलों का स्तर बढ़ाएंगे। हर सरकारी स्कूल में अंग्रेजी माध्यम की व्यवस्था होगी। सरकारी स्कूलों को निजी स्कूलों के तर्ज पर विकासित कर विद्यार्थियों को उच्चकोटी की शिक्षा मुहैया कराएंगे।

49. पत्रकारों को संबंधित क्षेत्रों में मकान के लिए जमीन देंगे।

उगादी पर आयोजित एक कार्यक्रम में वाईएस जगन 
उगादी पर आयोजित एक कार्यक्रम में वाईएस जगन 

50. बीसी के उत्थान के लिए प्रति वर्ष 15,000 करोड़ के हिसाब से पांच सालों के लिए 75,000 करोड़ रुपये विशेष उप योजना के जरिए खर्च किए जाएंगे।

51. राजनीतिक स्तर पर उभरने के लिए सभी नामित पदों में (मंदिरों के ट्रस्ट बोर्ड, मार्केट यार्ड कमेटी, कार्पोरेशन) आदि में बीसी. एससी, एसटी और अल्पसंखयकों को 50 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। यही नहीं, आर्थिक विकास के लिए सभी नामित और कांट्रेक्ट वर्क्स में 50 फीसदी आरक्षण बीसी. एससी, एसटी और अल्पसंख्यकों को आरक्षण देते हुए नया कानून बनाया जाएगा।

52. बीसी बहनों के विवाह के लिए वाईएसआर पेल्ली कानूका के रूप में वर्तमान में सरकार द्वारा दिए जा रहे 35 हजार रुपये की राशि बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दी जाएगी।

53. स्थाई बीसी आयोग गठित कर उसे कानूनी रूप देंगे और उस कमिशन का दायरा बढ़ाने के साथ ही बगैर किसी राजनीतिक दबाव के आयोग पारदर्शिता के साथ काम कर सके, ऐसी व्यवस्था करेंगे।

54. दुर्घटनावश बीसी से जुड़े लोगों की मृत्यु होने की स्थिति में उनके परिवार को वाईएसआर बीमा के तहत 5,00,000 रुपये देंगे।

55. बुनकर परिवारों को प्रति वर्ष 24,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि देंगे।

56. प्रति दिन 2 से 3 हजार रुपए के निवेश के लिए 3,4 और 10 रुपये की ब्याज दर पर कर्ज लेकर परेशान होने वाले पेशेवरों और छोटे व्यापारियों (फूटपाथ पर सामान बेचने वाले, ठेलों पर सब्जियां और टिफिन बेने वाले सहित अन्य व्यापारी) को ID card देकर 10 हजार रुपये के ब्याज मुक्त ऋण देंगे और ये रकम वे कभी भी ले सकते हैं।

57. वाईएसआरसीपी के सत्ता में आने पर कापु कार्पोरेशन के लिए सालाना 2 हजार करोड़ के हिसाब से पांच वर्षों में 10,000 हजार करोड़ रुपये आवंटित करेंगे। मौजूदा सरकार पिछले पांच वर्षों में सालाना 1 हजार करोड़ के हिसाब से पांच वर्षों में 5 हजार करोड़ रुपये आवंटित करने का आश्वासन दिया था, लेकिन अभी तक वह केवल 1,340 करोड़ रुपये ही आवंटित कर चुकी है। इसके अलावा कापु समुदाय को आरक्षण देने के नाम पर वर्तमान सरकार लोगों को गुमराह कर चुकी है।

58. अर्चकों की रिटायरमेंट नीति रद्द करेंगे।

59. 6-C मंदिरों में कार्यरत अर्चकों को मार्च 2019 में शासनादेश में उल्लेखित वेतन में अतिरिक्त 25 फीसदी बढ़ोतरी करेंगे।

60. मंदिरों में धूप और दीप-नैवैद्य सहित अर्चकों के वेतन के लिए पंचायत की जनसंख्या की आधार पर हर महीने 10 हजार से बढ़ाकर 35 हजार रुपये तक दिए जाएंगे।

61. अर्चकों के लिए जमीन आवंटित कर उनके लिए मकान बनाकर देंगे।

62. अल्पसंख्यकों के सब-प्लान के क्रियान्वयन में पारदर्शिता बरती जाएगी।

63.वक्फ बोर्ड, मुस्लिम माइनॉरिटियों से संबंधित चल-अचल संपत्तियों का रीसेर्वे करवा कर उनकी सुरक्षा करते हुए अचल संपत्तियों का डिजिटलाइज करवाएंगे और विभिन्न वर्गों के लोगों के विकास में उपयोगी साबित हो, ऐसी योजना बनाई जाएगी।

64. मुस्लिम माइनॉरिटी बहनों के विवाह के लिए वाईएसआर कानूका के तहत 1,00,000 रुपये देंगे।

65. हज यात्रा पर जाने वाले मुसलमानों की आर्थिक सहायता करेंगे।

66. इमामों को मकान की जमीनें आवंटित कर मकान बनाकर देंगे।

67. मस्जिदों में इमामों व मौजम को वेतन के तहत हर महीने 15 हजार रुपये देंगे।

68. दुर्घटनावश मुस्लिम माइनॉरिटी के लोगों के मरने पर उनके परिवार को वाईएसआर बीमा के तहत 5,00,000 रुपये दिए जाएंगे।

69. जाति, वर्ग तथा धर्मरहित सम समाज के निर्माण के लिए जरूरी सुशासन देंगे।

70. प्रत्येक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र को जिला बनाएंगे। सुशासन को लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करेंगे।

71. क्रिस्टियन माइनॉरिटी बहनों के विवाह के लिए वाईएसआर कानूनका के तहत 1,00,000 रुपये देंगे।

72. पॉस्टरों के विवाह रिजिस्ट्रार लाइसेन्स पद्धति को सरल बनाया जाएगा।

73. होली लैंड यात्रा पर जाने वाले क्रिस्टीयनों के आर्थिक सहायता देंगे।

74. दुर्घटनावश क्रिस्टीयन माइनॉरिटी के लोगों के मरने पर उनके परिवार को वाईएसआर बीमा के तहत 5 लाख रुपये देंगे।

75. आर्य वैश्यों के लिए विशेष निगम बनाएंगे। आर्यवैश्य सत्रम चलाने का अधिकार उन्हें ही देंगे।

76. दुकानें रहने वाले नई ब्राह्मणों व लॉंड्री रहने वाले रजकों तथा टेलर शॉप रहने वाले टेलरों को सालाना 10 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देंगे और उनके साथ खड़े रहेंगे।

77. मछुआरों को शिकार पर रोक के दौरान (15अप्रैल से 14 जून) तक तक आर्थिक सहायता राशि 4 हजार से बढ़ाकर 10 हजार करेंगे।

78. दुर्घटनावश मछुआरों के मरने पर उनके परिवार को मुआवजा के तहत 10 लाख रुपए देंगे।

79. जूनियर अधिवक्ताओं को पहले 3 साल के प्रैक्टिस के दौरान हर महीने 5 हजार रुपये का स्टाइफंड देंगे और अधिवक्ताओं के वेल्फेयर फंड के लिए 100 करोड़ रुपए आवंटित करेंगे।

80. सभी सवर्ण वर्गों (क्षेत्रीय, वैश्य, ब्राह्मण, रेड्डी, कम्मा आदि) के लिए भी कार्पोरेशन बनाएंगे।