मंच पर चंद्रबाबू के सामने बोला पूर्व विधायक, महिलाओं के पैसे लूट रहे हैं TDP के नेता..!

एक जनसभा में चंद्रबाबू - Sakshi Samachar

कड़पा : कहते हैं कि चुनाव प्रचार के दौरान नेता को बहुत ही सोच-समझकर बोलना चाहिए। कभी-कभी मंच पर ही नेताओं की पोल खुल जाती है। कभी जनता तो कभी उनकी पार्टी के ही नेता ऐसा कर दिया करते हैं।

कुछ ऐसा ही सोमवार को टीडीपी के मुखिया और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के साथ कड़पा जिले में हुआ, जब उनकी पार्टी के ही वरिष्ठ नेता व पूर्व विधायक एस. पालकोंड्रायुडु ने रायचोटी में उनके सामने टीडीपी नेताओं की लूट की बात सबके सामने उजागर कर दी।

तेलुगु देशम पार्टी के ही एक नेता ने उनके द्वारा बताई जा रही उपलब्धियों को फर्जी करार दिया और कहा कि चंद्रबाबू नायडू द्वारा सरकार की पसपु कुमकुम योजना के नाम पर किए जा रहे प्रचार में जमकर धांधली हो रही है।

उसी मंच पर चंद्रबाबू इस योजना को अपनी उपलब्धियों में गिनाया था और महिलाओं को ड्वाकरा समूह को मिलने वाले लाभ गिनाए थे। जैसे ही इस पूर्व विधायक को बोलने के लिए मंच पर बुलाया गया तो उसने बाबू के दावे की हकीकत खोल दी।

उम्मीदवारों के साथ चंद्रबाबू

उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा चलाई जा रही पसपु कुमकुम योजना बिल्कुल फर्जी है। इसका ड्वाकरा समूह की महिलाओं को इस योजना के अंतर्गत मंजूर की गई निधि वास्तव में लाभार्थियों तक नहीं पहुंच पा रही है और पार्टी के कुछ नेता ही इसे डकार रहे हैं।

पूर्व विधायक के इस तरह के बयान सुनकर मंच पर मौजूद चंद्रबाबू नायडू के साथ-साथ अन्य नेता भी हतप्रभ रह गए। उन्होंने तुरंत चेतावनी देने के साथ-साथ उन्हें मंच के उतार दिया । हालांकि बाद में नायडू ने इस मामले पर सफाई देते हुए कहा कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

इसे भी पढ़ें :

पूर्वी गोदावरी में जातीय समीकरण को तोड़ती दिख रही है YSRCP, ऐसा है जनता का मूड

चंद्रबाबू नायडू के ही पार्टी के नेता के द्वारा उनकी योजना की पोल खोले जाने के बाद टीडीपी के खिलाफ विरोधी दलों को एक नया मुद्दा मिल गया है और इसे विरोधी दल के लोग जमकर भुनाने की कोशिश करेंगे।

आपको बता दें कि मुख्य विरोधी दल वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता वाई एस जगनमोहन रेड्डी अक्सर सरकारी योजनाओं में लूट खसोट और द्वारा महिलाओं को सरकारी खजाने से मिलने वाली धनराशि टीडीपी नेताओं के द्वारा हड़पे जाने की बात कही जा रही थी । पर इसे सरकार झूठ करार दे रही थी। अब जब पार्टी के नेता ने उनके सामने ही इसका खुलासा कर दिया है, तो उसका उनके पास कोई जवाब नहीं है।

Advertisement
Back to Top