हैदराबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आंध्र प्रदेश दौरे के दौरान सीएम चंद्रबाबू नायडू और उनके मंत्री पुत्र नारा लोकेश ने ट्विटर पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जहां टीडीपी विशेष दर्जे की मांग को लेकर पीएम का विरोध कर रही है, वहीं नेता प्रतिपक्ष कहीं सो रहे हैं। इस तरह के पोस्ट को लेकर नारा लोकेश सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो रहे हैं।

नेटिजन कमेंट्स करते हुए लोकेश से पूछ रहे हैं, 'आप पिछले चार साल तक भाजपा के साथ रहे, लेकिन उस दौरान आपने विशेष दर्जे की मांग क्यों नहीं की? नेता प्रतिपक्ष जब विशेष दर्जे की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे थे तब आपकी सरकार ने उनके खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें आगे बढ़ने से क्यों रोका था? यही नेता प्रतिपक्ष को विशेष दर्जे की मांग को लेकर विशाखापट्टणम में आयोजित विरोध प्रदर्शन के लिए जाने से पहले ही विशाखापट्टणम हवाई अड्डे पर

किसने गिरफ्तार किया था, क्या उस वक्त वहां सोए हुए थे? ये किसने कहा था कि विशेष दर्जे की मांग उठाने पर जेल भेजा जाएगा? आपके पिता और आप ने केंद्र की तारीफ में क्या-क्या कहा था ? विशेष दर्जे की जगह स्पेशल पैकेज का स्वागत किसने किया था ? अगर नेता प्रतिपक्ष करीब एक साल तक लोगों के बीच रहकर 3,600 किलो मीटर की दूरी पैदल तय नहीं किए होते, तो क्या आप विशेष दर्जे को लेकर यू टर्न लिये होते?

प्रधानमंत्री मोदी की जनसभा में लोगों की भीड़ नहीं होने के कारण वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की तरफ से कार्यकर्ताओं को भेजने का हवाला देकर लोकेश ने आटो पर मौजूद जगन के फोटो को टैग करते हुए ट्वीट किया है।

इसे भी पढ़ें :

चंद्रबाबू को वामदलों का झटका, नहीं करेंगे ‘धर्म पोराट दीक्षा’ में शिरकत

लोकेश के इस ट्वीट से नाराज नेटिजन व्यंग साधते हुए कह रहे हैं कि लोकेश को इतना भी पता नहीं है कि नेता विपक्ष के प्रति सम्मान की वजह से लोग ऑटो पर जगन के स्टिकर लगा रखे हैं। सभी ऑटो वाले रोजीरोटी जुटाने के लिए मोदी की सभा में गए थे। इससे साफ हो जाता है कि मध्यम वर्ग के लोगों में जगन का काफी क्रेज है।