हैदराबाद: YSR कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता उम्मा रेड्डी वेंकटेश्वरुलू ने आरोप लगाया कि YS जगन मोहन रेड्डी पर षड़यंत्र के तहत हमला हुआ है। इस हमले के पीछे किसका हाथ है, यह उजागर होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच का जिम्मा NIA को सौंपना, केंद्र का कारगर कदम है। उच्च न्यायालय के इस निर्णय से आंध्र प्रदेश सरकार को फटकार लगी है।

उम्मा रेड्डी ने कहा कि विशाखापट्नम हवाई अड्डे के VVIP लांज में हमला हुआ और कुछ देर में DIG ने गैरजिम्मेदाराना बयान दिया। साथ ही चंद्रबाबू ने भी गैरजिम्मेदाराना बयान दिया। इस बयान से लोगों के मन में भ्रम पैदा हुआ। बाबू ने मामले को कमजोर बनाने का प्रयास किया है। आरोपी श्रीनिवास के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर पूरे प्रकरण को रफा-दफा करने का भी प्रयास किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें:

YS जगन पर हमला: CISF और AP पुलिस सुरक्षा जिम्मेदारियों से झाड़ रहे पल्ला

YSR कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि लोगों ने आंध्र प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष पर हुये हमले को उन पर किया गया हमला समझा है। उन्होंने याद दिलाया है कि YSR के कार्यकाल के दौरान तत्कालीन प्रतिपक्ष नेता चंद्रबाबू पर आलिपिरी में हमला हुआ था और उस हमले की जांच करने की मांग को लेकर वाईएसआर ने गांधीजी की प्रतिमा के निकट धरना दिया था।