श्रीकाकुलम: आंध्र प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष एवं YSR कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष YS जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि तितली तूफान पीड़ितों की सहायता करने में आंध्र प्रदेश सरकार असफल रही है। तूफान से 3450 करोड़ रुपयों का नुकसान होने पर केंद्र को पत्र लिखा, लेकिन पीड़ितों को केवल 500 करोड़ रुपयों की ही सहायता उपलब्ध की गई। पीड़ितों में चेक वितरीत किये गये, लेकिन अभी तक चेक रियलाइज नहीं हुये।

जनसमुदाय के बीच YS जगन मोहन रेड्डी
जनसमुदाय के बीच YS जगन मोहन रेड्डी

YS जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि तितली तूफान पीड़ितों को नुकसान का मुआवजा नहीं मिलने से आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने सवाल किया कि तूफान की चपेट में आने से अपनी सब कुछ खोने वाले पीड़ितों को आंध्र प्रदेश सरकार ने सहायता उपलब्ध क्यों नहीं की?

इसे भी पढ़ें:

333वें दिन प्रजा संकल्प यात्रा शुरू, लोगों की समस्याओं को सुनते हुए आगे बढ़ते YS जगन

प्रजा संकल्प यात्रा के 333वें दिन श्रीकाकुलम जिले के पलासा में आम सभा में YS जगन मोहन रेड्डी ने आगे कहा कि YSR कांग्रेस पार्टी के सत्ता में आने पर तितली तूफान से प्रभावित नारियल फसल लेने वाले किसानों को हर एक पेड़ के लिए 3000 रुपये दिये जायेंगे। मकान ढहने वाले पीड़ित को नया मकान बना कर देंगे। उन्होंन कहा कि पलासा में जिडीपप्पू (काजू) का उत्पादन अधिक है। यह क्षेत्र काजू के लिए प्रसिद्ध है। यहां के किसानों का जीवनयापन काजू की फसल पर आधारित है, इस पर लगाये जा रहे कर के बोझ तले किसान दब रहे हैं।

YSR कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री KCR पड़ोसी राज्य के होने के बावजूद आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने के बारे प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखने की बात कह रहे हैं। उनकी इस घोषणा से बौखला कर चंद्रबाबू ने इस पर भी राजनीति कर रहे हैं। YS जगन ने कहा कि YSR कांग्रेस पार्टी के सांसद और तेलंगाना के सांसद विशेष दर्जे को लेकर केंद्र पर दबाव बना सकते हैं।