हैदराबाद: YSR कांग्रेस पार्टी के विधायक गडिकोटा श्रीकांत रेड्डी ने कहा है कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री न्यायालय की नोटिसों का दुरूपयोग कर रहे हैं। इन नोटिसों के माध्यम से वे पब्लिसिटी की मंशा रख रहे हैं। रायलसीमा में सूखे की स्थिति उभरने पर चंद्रबाबू श्रीशैलम का दौरा कर जलाभिषेक व आरती कर रहे हैं।

श्रीकांत रेड्डी ने याद दिलाया है कि पोतिरेड्डीपाडू परियोजना के विरोध में धरना प्रदर्शन कर चुके मंत्री देविनेनि उमा महेश्वर राव वर्तमान में सिंचाई जलापुर्ति को लेकर बयान देना हास्यास्पद है। उन्होंने सवाल किया है कि चंद्रबाबू को खुद के जिले के साथ अन्य जिलों के किसानों को क्या रैतु बंधु कहने की हिम्मत है?

इसे भी पढ़ें:

गडिकोटा श्रीकांत रेड्डी ने कहा- दलबदलु विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करें सरकार

विधायक गडिकोटा ने कहा है कि सिने कलाकार के नाम पर ऑपरेशन गरुड़ा के माध्यम से चंद्रबाबू लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने सवाल किया है कि चंद्रबाबू को न्यायालय के नोटिसों से इतना डर क्यों है? न्यायालय ने उन्हें 22 नोटिसे भेजी, लेकिन वे न्यायालय में उपस्थित नहीं हुए और अब उभरी स्थिति से कतरा रहे हैं। आप को बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने चंद्रबाबू के खिलाफ मामला दर्ज किया है। महाराष्ट्र सरकार में वित्त मंत्री की पत्नी TTD बोर्ड से निलंबित क्यों नहीं किया जा रहा है?