थाईलैंड : थाईलैंड की गुफा में फंसे 12 बच्चों और उनके फुटबॉल कोच को मंगलवार को सुरक्षित बाहर निकाला लिया गया है। उत्तरी थाईलैंड में स्थित बाढ़ग्रस्त गुफा में फंसे बच्चों को निकालने के लिए पिछाले 18 दिनों से युद्ध स्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा था।

तीन दिनों तक चले इस अभियान में पहले और दूसरे दिन चार-चार लड़कों को बाहर निकाला गया था वहीं तीसरे और आखिरी दिन चार लड़कों और उनके कोच को बाहर निकाल लिया गया है। इसके साथ ही यह बचाव अभियान पूरा हो गया। हालांकि इस अभियान के दौरान एक बचावकर्मी की मौत हो गई थी।

इसे भी पढ़ें

थाईलैंड : गुफा में अभी भी फंसी है 5 जिंदगी, बचाव अभियान जारी

बता दें कि 'वाइल्ड बोर्स' नाम की यह फुटबॉल टीम 23 जून को गुफा में फंस गई थी। ये लोग अभ्यास के बाद वहां गए थे और भारी मानसूनी बारिश की वजह से गुफा में काफी पानी भर जाने के बाद वहां फंस गए।

विश्व कप नहीं देखने जाएंगे बच्चे

गुफा से बाहर आये फुटबाल टीम के बच्चे शायद विश्व कप फाइनल का लुत्फ रूस जाकर नहीं उठा पाएंगे, क्योंकि चिकित्सकों ने उन्हें ऐसा करने से मना किया है। ब्राजील के दिग्गज खिलाड़ी रोनाल्डो , इंग्लैंड के जोन स्टोन्स और अर्जेंटीना के लियोनेल मेस्सी ने बच्चों को शुभकामनाएं दी। फीफा के अध्यक्ष जियानी इनफैनटिनो ने भी बच्चों की फुटबाल टीम को रूस में विश्व कप का फाइनल मैच देखने के लिए आमंत्रित किया था।

इसे भी पढ़ें

थाईलैंड : 13 में से 6 बच्चे गुफा से निकाले गए बाहर, तेज बारिश के कारण थमा बचवा अभियान

चिकित्सकों ने उनके प्रस्ताव को यह कहते हुए मना कर दिया कि बच्चे अच्छी स्थिति में हैं लेकिन अभी उन्हें एक सप्ताह तक अस्पताल में रहना होगा। सार्वजनिक स्वास्थ्य मंत्रालय के थोंगचाई लर्टविलएरतनापोंग ने कहा, ''वे अभी कही नहीं जा सकते है। उन्हें अस्पताल में रहना होगा।'' सार्वजनिक स्वास्थ्य मंत्रालय के स्थायी सचिव जेडस्दा चोकडामरूंगसुक ने कहा, ''वे मैच को टेलीविजन पर देखेंगे।''