काठमांडू : नेपाल की नेशनल असेम्बली के लिए आठ फरवरी को चुनाव होंगे। इसे संघीय संसद के ऊपरी सदन के रूप में भी जाना जाता है। वाणिज्य मंत्री मिन बिश्वकर्मा ने मीडिया से कहा कि चुनाव आयोग की सिफारिशों के अनुसार प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की एक आपात बैठक में यह निर्णय लिया गया।

समाचार एजेंसी के अनुसार, राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने चुनाव का मार्ग प्रशस्त करने के लिए नेशनल असेम्ब्ली अधिनियम को मंजूरी दी, जिसके करीब एक हफ्ते बाद यह निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़ें :

पाकिस्तान को मदद रोकने का संबंध भारत में आतंकी हमलों से नहीं : अमेरिका

अरुणाचल के अस्तित्व पर चीन ने खड़े किए सवाल, कहा- भारत में नहीं है यह राज्य

अदालत की अवमानना के लिए अपदस्थ राष्ट्रपति मो. मुर्सी को 3 साल का कारावास

नेशनल असेम्ब्ली में कुल 59 सदस्य होंगे। इनमें से 56 सदस्य एक निर्वाचन मंडल द्वारा चुने जाएंगे। इनमें सात प्रांतों के असेम्बली सदस्य और नगर पालिकाओं एवं ग्रामीण नगर पालिकाओं के प्रमुख और उप प्रमुख शामिल होंगे। सरकार की सिफारिश के मुताबिक, तीन सदस्यों को राष्ट्रपति द्वारा नामित किया जाएगा।