इस्लामाबाद : पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के अध्यक्ष नवाज शरीफ ने अगले संसदीय चुनाव में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में अपने भाई और पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ को नामित किया है।

शरीफ ने बुधवार रात अपने आवास पर पीएमएल-एन नेताओं के साथ एक बैठक के बाद इस फैसले की घोषणा की।

पाकिस्तानी मीडिया ने बैठक में उपस्थित पार्टी नेताओं का हवाला देते हुए कहा कि नवाज शरीफ ने 'कड़ी मेहनत की प्रवृत्ति और जनसेवा के प्रति समर्पण' के लिए शहबाज शरीफ की प्रशंसा की।

नवाज ने कहा, "शहबाज ने हमेशा जनता के कल्याण के साथ पार्टी की नीतियों को आगे बढ़ाने के लिए काम किया है और इस रुख के कारण ही उन पर इस उच्च पद के लिए भरोसा दिखाया गया है।"

उन्होंने कहा, "हम एक लोकतांत्रिक राजनीतिक दल हैं, जहां हर कोई अपने मन की आवाज उठाने के लिए स्वतंत्र है। शहबाज के साथ कुछ मुद्दों पर वैचारिक मतभेद हैं, फिर भी पार्टी के प्रति उनकी प्रतिबद्धता जगजाहिर है, यही वजह है कि उन्होंने कभी भी पार्टी अनुशासन का उल्लंघन नहीं किया।"

भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण पद त्यागने वाले पूर्व प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री के रूप में शहबाज शरीफ की दृष्टि की सराहना करते हुए कहा, "शहबाज शरीफ ने मुझे कभी निराश नहीं किया है।"

यह घोषणा दोनों भाइयों के बीच एक 'युद्धविराम' साबित हो सकती है। हाल के दिनों में इनके बीच संबंध तनाव भरे रहे थे।

दरअसल, नवाज शरीफ को अयोग्य ठहराए जाने के बाद उनके द्वारा शहबाज शरीफ को पार्टी प्रमुख के रूप में नामित न करने के फैसले को कुछ लोगों ने दोनों के बीच दरार और अविश्वास का नतीजा करार दिया था।