महाराष्ट्र के नांदेड़ के सरकारी अस्पताल में एक स्ट्रेचर की अनुपलब्धता के कारण कथित तौर पर एक मरीज के रिश्तेदारों ने उसे बेडशीट की मदद से खींचते हुए लेजराहे हैं, महिला अस्पताल आई थी क्योंकि उसका पैर टूट गया था। उसका इलाज किया गया था और उसके पैर को प्लास्टर करने के बाद रिहा कर दिया गया था।