नई दिल्ली: कमल हासन, विद्या बालन, पुनीत राजकुमार, जीशु सेनगुप्ता और राजकुमार राव जैसी फिल्मी हस्तियों ने बच्चों के व्यावसायिक यौन शोषण पर डिजिटल डॉक्यूमेंट्री 'अमोली : प्राइसलेस' के लिए अपनी आवाज बुलंद की है।

कल्चर मशीन द्वारा गहरी पैठ और सुव्यवस्थित आपराधिक उद्योग पर निर्मित डॉक्यूमेंट्री सोमवार को यूट्यूब और फेसबुक पर सात भाषाओं में रिलीज की जाएगी। इसमें शोषण के विभिन्न प्रारूपों और इस व्यापार के लिए मांग को पूरा करने वाली जरूरतों पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

यह भी पढ़ें:

वेश्यावृत्ति को वैध न बनाएं, बल्कि इसका हल निकालें : गौहर खान

फिल्म को चार कड़ियों मोल, माया, मंथन और मुक्ति में पिरोया गया है।

कल्चर मशीन मीडिया प्राइवेड लिमिटेड के सीईओ और सह संस्थापक समीर पीतलवाला ने एक बयान में कहा, "मूलरूप से फिल्म का मकसद बच्चों को यौन संबंधों के लिए खरीदने वाले लोगों को रोकना है।"

इस 30 मिनट की फिल्म का निर्देशन प्रसिद्ध डॉक्यूमेंट्री निर्माता और राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता यास्मीन कौर रॉय और अविनाश रॉय ने किया है। फिल्म में संगीत तजदार जुनैद का है।

हिंदी में फिल्माई गई 'अमोली' का अनुवाद संस्करण तमिल, तेलुगू, बांग्ला, मराठी, कन्नड़ और अंग्रेजी में उपलब्ध रहेगा।