मेरठ: नगर निगम के वित्तीय वर्ष 2017-18 के पुनरीक्षित बजट पर चर्चा के दौरान पार्षदों के बीच हाथापाई हुई। दरअसल भाजपा पार्षदों ने संसद सत्र के दौरान बैठक बुलाने पर एतराज जताया था। इस दौरान बसपा के पार्षदों ने बीजेपी के लोगों की मांग की अनदेखी करते हुए जबरन बजट पास कराने की कोशिश की तो हंगामा शुरू हो गया। मंगलवार को टाउन हॉल के तिलक सभागार मे बैठक के दौरान पार्षद आपस में ही भिड़ गए। बीच बचाव में पुलिस को सदन के भीतर आना पड़ा। वहीं पार्षद पुलिसकर्मियों की सुनने को भी तैयारी नहीं थे। बैठक के अंत में वंदे मातरम गायन के दौरान कुछ मुस्लिम सदस्य सदन छोड़कर निकल गए। ये संशय बना हुआ है कि मंगलवार की हंगामेदार बैठक मान्य है या नहीं।