वेलेंटाइन वीक आज छठा दिन है। इस दिन कपल्स हग डे के तौर पर मनाते हैं। इस स्पेशल डे पर हम आपको देश की सबसे चर्चित और इंटरेस्टिंग लव स्टोरी के बार में बताने जा रहे हैं। यह लव स्टोरी एक ऐसे इंसान या कहें 'भगवान' कि है, जिसकी शादी होते ही हजारों लड़कियों का दिल टूट गया था। हम बात कर रहे हैं पूर्व क्रिकेट मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और उनकी डॉक्टर वाइफ अंजलि तेंदुलकर की।

मुंबई एयरपोर्ट पर हुई थी पहली मुलाकात

मैदान पर बल्ले से बात करने वाले सचिन की अपने से 6 साल बड़ी अंजली से पहली मुलाकात 1990 में मुंबई एयरपोर्ट पर हुई थी। उस समय सचिन इंग्लैंड का दौरा करके स्वदेश लौट रहे थे तो अंजलि भी वहीं पर और वहीं उनकी मुलाकात हो गई। इस मुलाकात के बाद दोनों ने करीब पांच साल तक डेट किया, लेकिन खास बात यह रही कि किसी को भी इसकी खबर तक नहीं लगी।

इन्हें भी पढ़ें

पार्टी में मुलाकात, साढ़े तीन साल इंतजार, पढ़ें युवी और हेजल की लव स्टोरी

इन वादों से जीत सकते हैं साथी का दिल, प्रॉमिस डे पर टिप्स

न्यूजीलैंड में की सगाई

सचिन और अंजलि ने अपने रिश्तों का खुलासा 1994 में न्यूजीलैंड में सगाई करने के दौरान किया। इसके कुछ महीने बाद अगले साल 24 मई 1995 को दोनों ने शादी कर ली। बताया जाता है कि उस समय देश में मीडिया का इतना ज्यादा प्रभाव नहीं था, इसलिए दोनों को डेट करने में कोई दिक्कत नहीं आई, इस दौरान दोनों ने एक साथ पहली फिल्म भी देखी थी, जिसका नाम था रोजा।

सन्यास के बाद काफी समय सचिन के साथ रहती हैं अंजलि

शादी के बाद भी करीब 18 साल तक इस महान क्रिकेट का करियर चलता रहा और काफी रन भी बनाए। वह जब भी क्रिकेट खेलने जाते थे तो अंजलि स्टेडियम में कम ही नजर आती थीं, लेकिन उनके संन्यास लेने के बाद वह काफी समय सचिन के साथ रहती हैं और हर काम में उनका हाथ बंटाती हैं। अंजलि सचिन की इस कदर दीवानी हैं कि वह जब भी बल्लेबाजी करने क्रीज पर जाते थे तो इस दौरान वह न कुछ खाती थीं, न फोन उठाती थीं।

उद्योगपति हैं अंजलि के पिता

अंजलि एक गुजराती उद्योगपति आनंद मेहता और ब्रिटिश सामाजिक कार्यकर्ता अनाबेल मेहता की पुत्री हैं। तेंदुलक के ससुर 7 बार नेशनल ब्रिज चैंपियन रह चुके हैं। तेंदुलकर दंपति के दो बच्चे हैं सारा और अर्जुन।