हिमाचल प्राकृतिक सौंदर्य से लबालब है। यहां की खूबसूरत हरी भरी वादियां, यहां की संस्कृति, उत्सव, मेले और यहां के लोगों का स्नेह यहां आने वालों को बार-बार आने के लिए उत्साहित करता है। प्रकृति की गोद में बसा “हिमाचल” पर्यटकों को यहां बर्बस ही खींच लाता है। वहीं सर्दी के मौसम में यह पर्यटन स्थल “कुफरी” बर्फ की चादर ओढ़े ओर भी खुबसूरत हो उठता है।

ऐसे ही हिमाचल प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में स्थित “कुफरी” जो शिमला से करीब 22 किमी. दूर स्थित है के बारे में हम अपने कॉलम पर्यटन में जानकारी देने जा रहे हैं। एक छोटा सा शहर है जो शिमला में ही स्थित है। यहां आप अपने परिवार के साथ पिकनिक पर जा सकते हैं। यहां आप हॉर्स राइडिंग, बंज्जी जंपिंग, रोप क्लाइम्बिंग, जिप लाइनिंग का लुत्फ उठा सकते हैं। हालांकि यह जगह थोड़ी महंगी है, लेकिन आप यहां भरपूर आनंद उठा सकते हैं।

हिमाचल प्रदेश स्थित कुफरी को सर्दियों का हॉटेस्ट प्लेस कहा जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दौरान पर्यटक अपने स्कीइंग गीयर्स के साथ यहां पहुंचते हैं और एक-दूसरे पर बर्फ के गोले फेंकने और स्नो मैन बनाने के लिए तैयार रहते हैं। इस दौरान आने वाले पर्यटकों के कोलाहल से यहां की पहाड़ियां जीवंत हो उठती हैं। स्की स्लोप्स से लोगों को उतरते देखना काफी रोमांचक होता है।

कुफरी की सफेद भुरभुरी दुनिया में प्रवेश कर आप भी बर्फ के साम्राज्य का आनंद ले सकते हैं। कुफरी अपने ट्रेकिंग और हाइकिंग रूट्स के कारण भी जाना जाता है। यह हिल रिसोर्ट समुद्र तल से 2,510 मी. की ऊंचाई पर स्थित है और विभिन्न आकर्षणों से भरपूर है। प्रत्येक वर्ष हजारों पर्यटक कुफरी पहुंचते हैं और एक बार यहां पहुंचने पर हमेशा के लिए यहीं बसना चाहते हैं। हाइकिंग, स्कीइंग, खूबसूरत नजारे, देवदार के वृक्षों की मीठी सुगंध और ठंडी-ठंडी बहती हवाएं-यह सब आपको कुफरी में मिलेगा।

इस जगह का नाम ‘कुफ्र’ शब्द से पड़ा है, जिसका स्थानीय भाषा में मतलब है ‘झील’। इस जगह के साथ जुड़े आकर्षण के कारण यहाँ वर्ष भर पर्यटक आते हैं। महासू पीक, ग्रेट हिमालयन नेचर पार्क, और फागू कुफरी में कुछ प्रमुख पर्यटन स्थलों में से हैं।

कुफरी में अपने प्रवास के दौरान साहसिक उत्साही स्कीइंग, टोबोगैनिंग, गो–कार्टिंग, और घोड़े की सवारी की तरह विभिन्न खेलों का आनंद ले सकते हैं।

साहसिक गतिविधियों के अलावा, घोड़ों का उपयोग दुर्गम स्थानों के लिए यात्रा करने के लिए किया जाता है। कुफरी से निकटतम हवाई बेस शिमला में जबरहट्टी हवाई अड्डा है, जो 22 किमी दूर है। हवाई अड्डा नियमित उड़ानें के माध्यम से सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा है।

एक छोटी लाइन रेल मार्ग द्वारा कुफरी शिमला से जुड़ा है, जबकि कालका, कुफरी से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित, भारत के सभी प्रमुख शहरों को शिमला से जोड़ता है। पर्यटकों जो सड़क मार्ग से यात्रा करना चाहते हैं वे शिमला, नरकड़ाडा और रामपुर से सीधी बसों से आ सकते हैं।

राज्य परिवहन की बसें और निजी डीलक्स बसें दोनों, आसानी से शिमला से कुफरी के लिए उपलब्ध हैं। कुफरी का क्षेत्र में अप्रैल और जून के महीने के बीच गर्मियों के दौरान समशीतोष्ण जलवायु का पाया जाता है। इस मौसम के दौरान इस जगह का तापमान 12 डिग्री सेल्सियस और 19 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है।

कुफरी मानसून के मौसम के दौरान अल्प वर्षा प्राप्त करता है और तापमान 10 डिग्री तक गिर जाता है। सर्दियाँ बहुत ठंड होती हैं और इस दौरान तापमान शून्य से नीचे गिर सकता है। मार्च और नवंबर के बीच की अवधि में इस जगह का दौरा करने के लिए आदर्श माना जाता है।

यहाँ सालभर किसी भी मौसम में जाया जा सकता है। केवल भारी बर्फबारी के समय सड़क बंद होने की स्थिति में ही पर्यटकों को तकलीफों का सामना करना पड़ सकता है। यदि आप सर्दियों के मौसम में शिमला जाने की तैयारी करें तो पहले शिमला और हिमाचल के मौसम के बारे में जरूर पता कर लें।

कैसे जाएँ- कालका, चंडीगढ़, दिल्ली, अमृतसर, जम्मू और पंजाब शहर से शिमला के लिए नियमित रूप से बस सेवा उपलब्ध है। इसके अलावा आप यहाँ से टैक्सी भी किराए पर ले सकते हैं। यदि स्वयं के वाहन को चला रहे हैं तो कुफरी और ऊँची पहाड़ियों पर अतिरिक्त सावधानी बरतें।

रेलमार्गः- यदि आप शिमला आ रहे हैं तो कालका से टॉयट्रेन लेना न भूलें। कालका से शिमला का सफर को तय करने में छह घंटे लगते हैं, लेकिन हसीन वादियों के बीच से छुक-छुक करके गुजरती रेल और बेहतरीन सफर की याद ताउम्र आपके जेहन में जीवित रहेगी।

वायुमार्ग- चूँकी शिमला हिमाचल की राजधानी है, इसलिए हर प्रमुख शहर से यहाँ के लिए वायुसेवा उपलब्ध है।

कहाँ ठहरें- शिमला में आपकी जेब के हिसाब से ठहरने की सुविधाएँ उपलब्ध हैं। आप चाहें तो महँगे विलासिता से भरपूर पाँच सितारा होटल चुनें या फिर गेस्ट हाउस, यह आपकी पसंद और जेब पर निर्भर करता है, लेकिन इस बात का ध्यान जरूर रखें कि पीक सीजन के समय यहाँ पहले से बुकिंग करवा लें, अन्यथा आपको दिक्कत हो सकती है।