नई दिल्ली : फेडरेशन कप टेनिस टूर्नामेंट के ग्रुप-ए के मुकाबले में बुधवार को यहां चीन ने भारत को 2-1 से हरा दिया।

पहले एकल मुकाबल में वांग याफान ने करमान कौर थांडी को हराकर चीन को बढ़त दिला दी थी।

इसके बाद अंकिता रैना ने हालांकि अपने से ऊंची रैंकिंग की खिलाड़ी लिन झू को हराकर भारत को 1-1 की बराबरी दिला दी।

लेकिन युगल मुकाबले में अंकित और प्रार्थना थोम्बरे की जोड़ी को वांग और झाओजुयान यांग ने सीधे सेटों में हराया।

पहले मैच में वांग याफान ने थांडी को सीधे सेटों में 6-2, 6-2 से हराया।

सचिन ने बताया : इसलिए U-19 विश्व कप जीतने में सफल हो पाई भारतीय क्रिकेट टीम

मैच की शुरुआत से ही दोनों खिलाड़ियों के खेल में अंतर नजर आ रहा था।

पहले सेट में वांग ने दो बार थांडी की सर्विस ब्रेक की। थांडी ने भी बहुत सारे अन्फोस्र्ड एरर और डबल फॉल्ट किए जिसके कारण वह अपनी ताकत और लंबाई का फायदा नहीं उठा पाई और 6-2 से पहला सेट हार गई।

इंडिया ओपन बैडमिंटन के फाइनल में हारीं सिंधु,  इंडोनेशिया को मिली दोहरी सफलता

वांग ने दूसरे सेट में भी दमदार शुरुआत की और पहले गेम ही थांडी की सर्विस ब्रेक कर दी। वांग देखते ही देखते दूसरे सेट में 4-1 से आगे हो गई।

इसके बाद उन्होंने बिना कोई गलती किए दूसरे सेट को भी 6-2 से अपने नाम कर लिया।

हालांकि, भारत की अंकिता रैना ने चीन की लिन झू को सीधे सेटों में भारत को 1-1 की बराबरी दिला दी।

अंकिता पूरे मैच में अपनी चीनी प्रतिद्वंद्वी पर हावी रही और मुकाबले को 6-3, 6-2 को हराया।

पहले सेट में अंकिता ने लिन की पहली सर्विस गेम को ब्रेक किया। लिन पहले सेट के दौरान अंकिता की सर्विस ब्रेक नहीं कर पाई।

दूसरे सेट में अंकिता ने लिन की पहली दो सर्विस गेम ब्रेक की और 3-0 की बढ़त बना ली।

इसके बद झू ने वपासी जरुर की लेकिन अंकिता ने 4-1 की बढ़त बना ली और दूसरे सेट को 6-2 से जीत लिया।

वांग और यांग की जोड़ी ने अंकिता ओर प्रार्थना को 6-2, 7-6 (1) से मात दी।