चित्तूर (आंध्र प्रदेश) : फिल्मी आलोचक कत्ती महेश के हैदराबाद बहिष्कार किये जाने की घटना पर उनके पिता ने तिखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। कत्ती के पिता ओबुलेसु ने कहा कि मेरे बेटे को बहिष्कार किये जाने से अच्छा होता कि हिंदुओं को भड़काने वाले स्वामी परिपूर्णानंद को बहिष्कार किया जाना चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि मेरा बेटा महेश दलित है, इसीलिए ब्राह्मण समाज के लोग मिलकर अनावश्यक इस घटना को लंबा खींच रहे हैं। ओबुलेसु ने यह भी कहा कि भगवान श्रीराम के बारे में मेरे बेटे ने जो कुछ भी कहा वो सौ प्रतिशत सच भी होगा। साथ ही कहा कि रामयणम् विष वृक्षम् (रंगनायकम्मा की तेलुगु पुस्तक का नाम है, अर्थ है-रामायण जहरीला पेड़) पढ़ने पर राम कैसा व्यक्ति है पता चल जाएगा।

संबंधित खबरें :

फिल्म डॉयरेक्टर ने भगवान राम को बताया धोखेबाज, बवाल के बाद मामला दर्ज

भगवान श्रीराम पर टिप्पणी करने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए : जाना रेड्डी

ओबुलेसु ने कहा, "मेरा बेटा एक हिंदू है। नास्तिक नहीं है। आस्तिक है। मेरा बेटा अपनी पत्नी के साथ रहता है। पत्नी को छोड़कर अलग नहीं रहता है। गत 4 जुलाई को लखनऊ में उसके बेटे का जन्म दिवस भी मनाया है। सोशल मीडिया में कुछ लोग जान बूझकर मेरे बेटे के खिलाफ गलत प्रचार कर रहे हैं।

संबंधित खबरें :

BJP विधायकों की मांग, कत्ती महेश  का किया जाए आजीवन बहिष्कार

भगवान राम पर विवादित बयान देने वाले फिल्म आलोचक कत्ती महेश का बहिष्कार

आपको बता दें कि पुलिस ने महेश कत्ती को भगवान श्रीराम के खिलाफ टिप्पणी किये जाने के चलते सोमवार को हैदराबाद से छह महीने के लिए बहिष्कार किया गया। साथ ही चित्तूर जिले के उनके निवास पर भेज दिया गया था। स्वामी परिपूर्णानंद को नजरबंद भी किया गया था