अनंतपुर (आंध्र प्रदेश) : बजरंग दल के नेताओं ने भगवान श्रीराम के खिलाफ टिप्पणी करने वाले फिल्मी आलोचक कत्ती महेश को दोनों तेलुगु राज्यों से बहिष्कार करने की मांग की है। इस संदर्भ में बजरंग दल के नेताओं ने मंगलवार को जिला राजस्व अधिकारी को इस विषय का एक ज्ञापन सौंपा।

इस अवसर पर नेताओं ने कहा कि कत्ती महेश ने धार्मिक नफरत पैदा करने वाले बयान देकर हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाया है। उन्होंने सरकार से यह भी मांग की है कि भगवान श्रीराम को अपमानित करने के बयान देने वाले कत्ती महेश के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए।

संबंधित खबरें :

फिल्म डॉयरेक्टर ने भगवान राम को बताया धोखेबाज, बवाल के बाद मामला दर्ज

भगवान श्रीराम पर टिप्पणी करने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए : जाना रेड्डी

कत्ती महेश को नहीं, स्वामी परिपूर्णानंद को बहिष्कार किया जाना चाहिए : ओबुलेसु

कत्ती महेश (फाइल फोटो)
कत्ती महेश (फाइल फोटो)

साथ ही बजरंग दल के नेताओं ने सरकार से मांग की है कि हिंदू धर्मग्रह यात्रा के लिए स्वामी परिपूर्मानंद को अनुमति दी जाए और स्वामी को पूरी सुरक्षा उपलब्ध की जाए। नेताओं ने यह भी मांग की है कि धर्म की भावनाओं पर परिचर्चा का संचालन करने वाले टीवी चैनल को बंद कर दिया जाए।

संबंधित खबरें :

BJP विधायकों की मांग, कत्ती महेश  का किया जाए आजीवन बहिष्कार

भगवान राम पर विवादित बयान देने वाले फिल्म आलोचक कत्ती महेश का बहिष्कार

ज्ञापन देने वालों में बजरंग दल के नेता कसापुरम रवि, सोमशेखर, रमेश, प्रभाकर व अन्य शामिल थे। आपको बता दें कि कत्ती महेश को हैदराबाद पुलिस ने सोमवार को शहर से बहिष्कार कर दिया है।

कन्ना लक्ष्मीनारायण

दूसरी ओर एपी बीजेपी अध्यक्ष कन्ना लक्ष्मीनारायण ने भी स्वामी परिपूर्णानंद स्वामी को नजरबंद किये जाने की निंदा की है। लक्ष्मीनारायण मंगलवार को इस विषय पर लगातार ट्वीट पोस्ट किये हैं। उन्होंने परिपूर्णानंद को नजरबंद किये गये 9 जुलाई को काला दिवस बताया है।

कन्ना लक्ष्मीनारायण (फाइल फोटो)
कन्ना लक्ष्मीनारायण (फाइल फोटो)

कन्ना ने आगे कहा कि किसी भी धर्म के भगवान के खिलाफ यदि कोई टिप्पणी करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। आवश्यक पड़ी तो सरकार इसके लिए नये कानून बनवाये।